deepak chahar 1

दीपक चाहर (Deepak Chahar) की इन दिनों अपने करियर के अच्छे दिनों को जी रहे हैं. इस खिलाड़ी पर मेगा ऑक्शन में जमकर पैसा बरसा था. चेन्नई सुपर किंग्स ने नीलामी में उनके लिये 14 करोड़ रुपये खर्च किये थे. दीपक चाहर इस साल फिर अपने पसंदीदा खिलाड़ी एमएस धोनी के (MS Dhoni) के साथ खेलते हुए नजर आएंगे. वहीं दीपक चाहर ने एमएस धोनी को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. एमएस धोनी के इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्‍यास लेते समय दीपक चाहर (Deepak Chahar) से कुछ बातें कही थी. जिनका उन्होने खुलासा किया है.

‘संन्‍यास लेते समय धोनी ने मुझसे कही ये बात’

deepak chahar 2

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी के (MS Dhoni) ने 15 अगस्‍त 2020 को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्‍यास लिया था. जिसके बाद उनके फैंस में मायूसी की लहर सी दौड़ गई थी. खैर ये क्रिकेट का दस्तूर एक ना एक दिन खिलाड़ी को क्रिकेट से संन्यास लेना ही पड़ता है. एमएस धोनी  भारतीय टीम के सबसे सफल कप्तानों मे गिने जाते हैं, क्योंकि उन्होंने भारत को 3 आईसीसी ट्रॉफी जिताई है. वहीं दीपक चाहर (Deepak ने Chahar) ने धोनी से जुड़ी कुछ बातें शेयर की हैं, जो धोनी ने उनसे संन्यास लेते वक्त कही थी. दीपक चाहर ने बताया कि,

“चाहर ने कहा कि एक दिन माही भाई ने मुझसे कहा कि गेंद से तुमने अच्‍छा काम किया है, मगर अपनी बल्‍लेबाजी को सही नहीं ठहराया. मुझे लगता है कि आपको ये करना चाहिए. मैं अपनी बल्‍लेबाजी पर अधिक ध्‍यान दूं और माही ने कहा था कि मुझे बल्‍ले से अभी बहुत कुछ साबित करना है. चाहर ने कहा कि उन्‍होंने ये बात उस दिन कही थी, जिस दिन उन्‍होंने संन्‍यास का ऐलान किया था”

आईपीएल में धोनी के साथ नजर आएंगे दीपक चाहर

Dhoni Chahar

फैंस के साथ खिलाड़ियों को आईपीएल के 15वें सीजन का बड़ी बेसब्री से इंतजार है. आईपीएल का आगाज अप्रैल से होने की संभावना है. दीपक चाहर (Deepak Chahar) के हाथ इस साल जैकपॉट हाथ लगा है, क्योंकि इस खिलाड़ी पर मेगा ऑक्शन में जमकर पैसा बरसा था. चेन्नई सुपर किंग्स ने नीलामी में उनके लिये 14 करोड़ रुपये खर्च किये थे. उन्होंने दोबारा सीएसके के लिए खेलने को लेकर कहा,

‘मैं सीएसके की तरफ से ही खेलना चाहता था क्योंकि मैंने पीली जर्सी (चेन्नई की पोशाक) के अलावा किसी अन्य जर्सी में खेलने की कल्पना तक नहीं की थी।’ उन्होंने कहा, ‘एक समय मुझे लगा कि यह (बोली की राशि) बहुत अधिक है। सीएसके का खिलाड़ी होने के कारण मैं यह भी चाहता था कि हम अच्छी टीम तैयार करें। इसलिए जब उन्होंने 13 करोड़ रुपये खर्च कर दिए थे तो मैं वास्तव में चाहता था कि बोली रुक जाए, ताकि मैं जल्द से जल्द सीएसके के खेमे में जा सकूं और इसके बाद हम बची धनराशि से कुछ अन्य खिलाड़ियों को खरीद सकें।’