dale steyn 0411

क्रिकेट इतिहास में जब भी दुनिया के सबसे खतरनाक तेज़ गेंदबाजों को याद किया जाएगा तो उसमें दक्षिण अफ्रीका के तूफानी गेंदबाज डेल स्टेन का जिक्र जरूर मिलेगा. हाल के कुछ वर्षों में इस गेंदबाज ने बल्लेबाजों पर जमकर कहर बरपाया है. जिससे यह खिलाड़ी विश्व क्रिकेट में खास हो जाता है. बता दें चोटिल होने के कारण स्टेल पिछले कुछ दिनों से क्रिकेट से दूर चल रहे हैं. स्टेन ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच इस साल जनवरी में खेला था. चोटिल होने के कारण भारत के खिलाफ हुए केपटाउन टेस्ट के बाद से वे क्रिकेट से दूर चल रहे हैं.

dale steyn main

34 साल के डेल स्टेन के लिए पिछले कुछ साल बहुत ही निराशाजनक दौर से गुजरे हैं. डेल स्टेन ने इस साल की शुरूआत में करीब एक साल के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट में भारत के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में वापसी तो की थी लेकिन इस टेस्ट सीरीज के केपटाउन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में ही डेल स्टेन एक बार फिर से चोटिल होकर बाहर हो गए. यानि विश्व क्रिकेट के इस बेहतरीन गेंदबाज के पीछे चोट से हाथ धोकर पड़ी हुई है.

चोट के साथ साथ यह गेंदबाज अपनी लय भी हासिल नहीं कर पा रहा है जिससे इनकी आलोचना भी हो रही है. लोगों ने कहना शुरू कर दिया है कि अब इन्हें क्रिकेट से दूरी बना लेना चाहिए. क्योंकि उम्र ढ़लने के साथ वापसी कर पाना बेहद मुश्किल हो जाएगा. हालांकि यह दिग्गज खिलाड़ी ऐसा नहीं मानता. स्टेन का मानना है कि अभी उनके अन्दर बहुत क्रिकेट बाकी है. वे अभी आगामी पांच सालों तक क्रिकेट खेलना चाहते हैं.

क्या बोलें स्टेन 
492974 dale steyn against wi 2015 gettyimages34 वर्षीय स्टेन ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा, “मैं बहुत अधिक क्रिकेट खेलना चाहता हूं. मेरे अन्दर क्रिक्रेट बाकी है. फिलहाल मैं 34 साल का हूं और मैं 39 वर्ष का होने तक क्रिकेट खेल सकता हूं. लेकिन महत्वपूर्ण सवाल ये है कि इसमें मैं देश के लिए कितना क्रिकेट खेल पाता हूं.”

इसके साथ ही डेल स्टेन ने कहा “अगर मैं ज्यादा से ज्यादा समय टीम में बिताता हूं. फिर आपको इस विकल्प पर विचार करना पड़ सकता है. लेकिन यह एक चर्चा का विषय है कि मैं और ऑटिस गिब्सन(साउथ अफ्रीका मुख्य कोच) एक साथ आ सकते हैं क्या, खासकर आने वाले वर्ल्ड कप में.”

Anurag Singh

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published.