भारत में क्रिकेट का महाकुंभ यानि आईपीएल का ग्यारहवा संस्करण सात अप्रेल से शुरू होने जा रहा है. पहली बार आईपीएल का आयोजन साल 2008 में हुआ था तब राजस्थान रॉयल्स और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच फ़ाइनल खेला गया था. इस फ़ाइनल मैच में राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 3 विकेट से हराकर पहले सीजन यानि 2008 के ख़िताब पर कब्ज़ा जमाया था. उस दौरान रॉयल्स के कप्तान थे शेन वॉर्न, जबकि चेन्नई की कप्तानी धोनी के हाथों में थी. राजस्थान रॉयल्स की टीम से खेल रहे शेन वॉटसन प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे थे.

आइये हम आपकों आज बताते हैं कि 2008 में चेन्नई के लिए फ़ाइनल खेलने वाले खिलाड़ी आज कहां हैं और क्या करते हैं ?

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी

चेन्नई सुपर किंग एकलौती ऐसी टीम है जिसने आज तक अपना कप्तान नहीं बदला. आईपीएल के शुरुआत से ही चेन्नई की कमान अब तक महेंद्र सिंह धोनी ही संभाल रहे है. मौजूदा समय में धोनी ने अंतराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया है जबकि वनडे व टी-20 में वो आज भी भारत के लिए खेलते है. धोनी ने भारत के लिए क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कप्तानी की है.

मुथैया मुरलीधरन

दुनिया भर के बल्लेबाजों के छक्के छुड़ाने वाले इस लंकाई गेंदबाज ने 2011 में आखिरी अन्तराष्ट्रीय मैच खेला था जिसे बाद संन्यास ले लिया था. वहीं कोलकाता से आईपीएल 2014 खेला था जिसके बाद क्रिकेट को अलविदा कह दिया था.

मखाया एंटिनी

साउथ अफ्रीका का यह तेज़ गेंदबाज क्रिकेट के सभी प्रारूपों को अलविदा कह चुका हैं. आईपीएल 2008 में इस गेंदबाज ने अपनी गेंदबाजी से खूब कहर बरपाया था. मौजूदा समय में यह खिलाड़ी अपने देश के युवा खिलाडियों को प्रशिक्षण दे रहा है.

एस बद्रीनाथ

चेन्नई के लिए साल 2008 में फ़ाइनल खेलने वाला यह हरफनमौला खिलाड़ी ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है जबकि वह मौजूदा समय में झारखण्ड के लिए खेल रहा है वहीं कमेंटेटर के तौर पर नयी पारी की शुरुआत की है.

लक्ष्मीपति बालाजी

फिलहाल बालाजी चेन्नई से ही जुड़े है लेकिन खिलाड़ी के तौर पर नहीं बल्कि बोलिंग कोच के तौर पर. बालाजी ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट को बहुत पहली ही अलविदा कह दिया था. आईपीएल में चेन्नई का साथ छोड़ने के बाद बालाजी ने आखिरी आईपीएल कोलकाता के लिए खेला. इस बात चेन्नई को गेंदबाजी को मजबूती प्रदान करने के लिए बतौर कोच जुड़े है.

शादाब जकाती

चेन्नई के लिए आईपीएल सीजन का पहला फ़ाइनल खेलने वाला यह ऑलराउंडर खिलाड़ी हाल के दिनों में गोवा के लिए खेल रहा है. और प्रयासरत है कि आने वाले समय में टीम इंडिया में जगह मिल जाये हालांकि यह बेहद मुश्किल लग रहा है.आईपीएल में जकाती रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर व गुजरात लायंस के लिए भी खेल चुके हैं.

मनप्रीत गोनी

इस युवा खिलाड़ी ने भी 2008 आईपीएल में खूब सुर्खिया बटोरी थी. गेंद और बल्ले दोनों से मौका मिलने पर जलवे बिखेरने वाला इस खिलाड़ी को इस सीजन आईपीएल में कोई खरीदार तक नहीं मिला और आज के दौर में यह संघर्ष कर रहा है.

चमारा कपुगेदरा


श्रीलंका का यह खिलाड़ी भी 2008 आईपीएल में चेन्नई टीम का हिस्सा था. ख़राब फ़ार्म की वजह से इन्हें बाद में लंका क्रिकेट टीम से बाहर का रास्ता दिखा गया जिसके बाद ये फिर वापसी नहीं कर पाए. फिलहाल यह खिलाड़ी गुमनामी का जीवन जी रहा है.

सुरेश रैना

रैना इस आईपीएल सीजन भी चेन्नई से ही जुड़े है. हालांकि जब चेन्नई को आईपीएल से बैन किया गया था तो रैना गुजरात लायंस टीम की बतौर कप्तान कमान संभाल रहे थे. अब जब इस सीजन में चेन्नई वापसी कर रही है तो रैना पुनः टीम से जुड़ गए है. वैसे रैना भारतीय टीम के लिए खेल रहे है.

पार्थिव पटेल


तब पार्थिव बतौर सलामी बल्लेबाज पार्थिव खेला करते थे. इस आईपीएल सीजन पार्थिव रॉयल चैलेंजर बंगलुरु के लिए खेलेंगे. इससे पहले वे मुंबई इंडियंस से जुड़े थे. भारतीय टीम में जगह बनाने की पार्थिव लगातार कोशिशें कर रहे हैं लेकिन अभी तक स्थायी तौर पर सफलता हाथ नहीं लगी.

एल्बी मोर्कल

साउथ अफ्रीका का यह हरफनमौला खिलाड़ी अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह चुका है. 2008 आईपीएल में इस खिलाड़ी ने चेन्नई को फाइनल तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया था.

लिखने, पढ़ने, सिखने का कीड़ा. Journalist, Writer, Blogger,

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *