csk 1

IPL 2021 का फाइनल मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स ने कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर 27 रनों से जीत दर्ज की है। इस बड़ी जीत के साथ ही CSK ने आईपीएल की चौथी ट्रॉफी जीत ली है। मैच की शुरुआत में इयोन मोर्गन ने टॉस जीतकर फील्डिंग चुनी थी, मगर उनकी टीम इस मैच में रन चेज में फेल हो गई। पहला विकेट गिरने के बाद KKR वापसी नहीं कर सकी और 27 रनों से मैच हार गई और ट्रॉफी जीतने से चूक गई।

टॉस जीतकर KKR ने चुनी फील्डिंग

CSK

KKR vs CSK KS के बीच खेले गए IPL 2021 के फाइनल मैच में जब दोनों टीमों के कप्तान टॉस के लिए मैदान पर आए। तो सिक्का उछला और गिरा KKR के कप्तान इयोन मोर्गन के पक्ष में। जहां, टॉस जीतकर उन्होंने फील्डिंग करने का फैसला किया और CSK को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया।

चेन्नई सुपर किंग्स: रितुराज गायकवाड़, फाफ डु प्लेसिस, रॉबिन उथप्पा, मोइन अली, अंबाती रायुडू, एमएस धोनी (विकेटकीपर/कप्तान), रवींद्र जडेजा, ड्वेन ब्रावो, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर, जोश हेज़लवुड।

कोलकाता नाइट राइडर्स: शुभमन गिल, वेंकटेश अय्यर, नितीश राणा, राहुल त्रिपाठी, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), इयोन मोर्गन (कप्तान), शाकिब अल हसन, सुनील नरेन, लॉकी फर्ग्यूसन, शिवम मावी, वरुण चक्रवर्ती।

CSK ने दिया 193 रनों का लक्ष्य

CSK

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी। जहां, टीम ने बेहतरीन शुरुआत की। सलामी जोड़ी ने पावर प्ले मनें 50 रन बना लिए। इसके बाद रितुराज गायकवाड़ और फाफ डु प्लेसिस बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे थे, जहां उन्होंने 61 रनों की साझेदारी की, तभी सुनील नरेन ने अपनी टीम के लिए पहला विकेट चटकाया और गायकवाड़ को 32 (27) पर चलता कर दिया। इसके बाद मैदान पर आए रॉबिन उथप्पा ने डु प्लेसिस के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 57 रनों की साझेदारी की और 15 गेंदों पर 31 रन की शानदार पारी खेलकर नरेन का शिकार हुए।

फिर मोईन अली और डु प्लेसिस आखिर तक अपनी टीम के लिए विस्फोटक बल्लेबाजी करते रहे। मोईन अली आखिर में 37 (20) रन पर नाबाद लौटे, वहीं डु प्लेसिस ने इस हाईवोल्टेज मुकाबले में 86 (59) रनों की बेहतरीन पारी खेली, वह नाबाद लौटते, मगर पारी की आखिरी गेंद पर शिवम मावी ने उन्हें आउट कर दिया। इस तरह CSK ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 3 विकेट के नुकसान पर 192 रन बनाए।

27 रनों से हारकर KKR ने गंवाई ट्रॉफी

csk vs kkr

CSK के दिए 193 रनों के पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी KKR की टीम ने भी शानदार शुरुआत की। पावर प्ले में कोलकाता के ओपनर्स ने 53 रन बटोरे। KKR के बल्लेबाज तूफानी बल्लेबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे थे, तभी 10वें ओवर की दूसरी गेंद पर रवींद्र जडेजा ने शुभमन गिल को 27 (26) पर आउट कर ही दिया था, लेकिन बदकिस्मती से गेंद अंबाती रायडू के हाथ में आने से पहले स्पाइडर कैमरे पर लगी, जिसके चलते इस गेंद को डैड करार दिया गया और गिल को जीवनदान मिल गया।

हालांकि इसके बाद शार्दुल ठाकुर ने 11वें ओवर की चौथी गेंद पर तूफानी बल्लेबाजी कर रहे वेंकटेश अय्यर को 50 (32) के स्कोर पर आउट कर CSK के लिए पहला विकेट चटकाया और 91 रनों की साझेदारी को तोड़ा। इस झटके से अभी KKR उबर भी नहीं पाई थी, कि ओवर की आखिरी गेंद पर शार्दुल ने नितीश राणा को गोल्डन डक पर आउट कर दिया। अगले ओवर में जोश हेजलवुड ने सुनील नरेन को 2 (2) पर चलता कर दिया और CSK ने मैच में शानदार वापसी की।

इसके बाद शुरुआत से क्रीज पर टिके हुए शुभमन गिल को दीपक चाहर ने 51 (43) पर आउट कर दिया। यकीनन गिल का आखिर तक टिका रहना टीम की जीत के लिए काफी जरुरी था, क्योंकि लक्ष्य काफी बड़ा है। इसके बाद टीम वापसी नहीं कर सकी। बल्लेबाजी के लिए आए दिनेश कार्तिक 9 (7) पर रवींद्र जडेजा की गेंद पर अंबाती रायडु को कैच थमा बैठे और फिर अगली ही गेंद पर जड्डू ने शाकिब अल हसन को गोल्डन डक पर LBW कर पवेलियन का रास्ता दिखाया। राहुल त्रिपाठी से सभी को उम्मीदें थी, मगर वह भी 2 (3) रन बनाकर शार्दुल ठाकुर के हाथों आउट हो गए। एक छोर से पारी को संभालने की कोशिश कर रहे इयोन मोर्गन भी जोश हेजलवुड का शिकार हुए और 4 (8) के मामूली स्कोर पर आउट हो गए। इसके बाद आखिरी ओर में शिवम मावी 20 (11) रन पर ड्वेन ब्रावो का शिकार हुए।

आखिर में लॉकी फर्ग्यूसन 17 (10)  नाबाद लौटे। उन्होंने आखिरी तक क्रीज पर टिकने का साहस तो दिखाया, मगर वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके। इस तरह KKR फाइनल मैच में 9 विकेट गंवाकर 164 के स्कोर तक ही पहुंच सकी और मैच गंवाने के साथ-साथ ट्रॉफी जीतने से भी चूक गई। वहीं CSK ने 27 रनों से मिली जीत के साथ फाइनल मैच को अपने नाम कर लिया और चौथी आईपीएल ट्रॉफी जीत ली है।