dhoni

चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) और दिल्ली कैपिटल्स के बीच शानदार मैच खेला गया। इस मैच में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी वाली चेन्नई की टीम को नए नवेले कप्तान ऋषभ पंत की दिल्ली कैपिटल्स ने 7 विकेट से मात दे दी है। पहले मैच में हार का मुहं देखने के बाद चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी ने ओस को कुसूरवार बताया। साथ ही उन्होंने गेंदबाजों के प्रदर्शन पर भी निराशा व्यक्त की।

MS Dhoni ने ओस को बताया हार का जिम्मेदार

ms dhoni

महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स को दिल्ली कैपिटल्स के हाथों 7 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में टॉस हारकर चेन्नई की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हउए 189 रनों का लक्ष्य निर्धारित किया था, जिसे दिल्ली ने 3 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया और 7 विकेट से चेन्नई को हार का मुंह देखना पड़ा। मैच खत्म होने के बाद MS Dhoni ने पोस्ट मैच सेरेमनी में कहा,

“ओस पर बहुत कुछ निर्भर करता है और ये शुरू से हमारे दिमाग में था तभी हमने सोचा कि बोर्ड पर ज्यादा से ज्यादा रन लगाए जाए। बल्लेबाजों ने बढ़िया काम किया और 188 के स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। हालांकि, बाद में 50 मिनट के बाद ओस पड़ने के चलते परेशानी हुई। हम थोड़ा और बेहतर गेंदबाजी कर सकते थे, हां अगर बल्लेबाज आपके खिलाफ लगातार हिट कर रहे हैं तो आप कुछ नहीं कर सकते।”

गेंदबाजों को सबक लेकर होगा सीखना

दिल्ली कैपिटल्स के सामने मैदान पर उतरी दिल्ली की टीम की बैटिंग लाइनअप बहुत गहरी थी, क्योंकि 11 नंबर पर मौजूद दीपक चाहर भी बल्ले से रन बनाने का समर्थ रखते हैं। मगर इस मैच में चेन्नई की गेंदबाजी बहुत फीकी नजर आई, जिसका दिल्ली ने पूरा फायदा उठाया। MS Dhoni ने आगे कहा,

“हमारे गेंदबाजों का प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा। उन्होंने ऐसी गेंदें डाली जिन पर आसानी से चौके लग सकते थे। ख़ैर गेंदबाजों को इस हार से सबक लेकर सीखना और होगा और आने वाले मैचों में इस चीज पर ध्यान भी देना होगा। जब खेल 7:30 बजे शुरू होता है तब विपक्षी टीम के पास समय होता है। उस समय विकेट काफी कठिन होता है और गेंद भी रुककर आती है।”

MS Dhoni ने की दिल्ली के ओपनर्स ने की तारीफ

ms dhoni

दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाजों की तारीफ करने से खुद को रोक नहीं सके। पृथ्वी शॉ और शिखर धवन की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 138 रनों की साझेदारी की। MS Dhoni ने आगे कहा,

“इसलिए हमें खुद को बचाए रखने के लिए 15 से 20 रन ज्यादा बनाने चाहिए थे। हां, अगर हमें लगातार ओस मिलती तो इस विकेट पर हम 200 का स्कोर बना सकते थे। गेंदबाजों ने एक शानदार लाइन पर गेंद डाली और हल्की सीम भी देखने को मिल रही थी। हालांकि, उनके ओपनर्स ने काफी अच्छा खेल दिखाया और उन्हें वाकई में खेलने के लिए अच्छी गेंदे मिली।”