CSK vs KKR

IPL 2021 के यूएई लेग की शुरुआत मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 19 सितंबर को खेले जाने वाले मैच के साथ होगी। दोनों ही टीमें टॉप-4 में मौजूद हैं। CSK की बात करें, तो फ्रेंचाइजी के कप्तान एमएस धोनी टीम की सबसे बड़ी ताकत हैं और भारत में आयोजित हुए शुरुआती मैचों में टीम ने संयुक्त प्रदर्शन के साथ मैदान पर मैच जीते। अब केकेआर के पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने CSK के प्ले ऑफ में पहुंचने को लेकर बयान दिया है।

खिलाड़ियों पर नहीं होगा इंटरनेशनल क्रिकेट का दबाव

csk

चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में अनुभवी खिलाड़ियों की भरमार है। ऐसे एमएस धोनी, सुरेश रैना सहित टीम में ऐसे कई खिलाड़ी हैं, जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेलते हैं। लेकिन CSK के लिए वह अपना सर्वश्रेष्ठ देते नजर आते हैं। गौतम गंभीर ने स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए कहा,

“हां, उनके पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो ज्यादा क्रिकेट नहीं खेलते, लेकिन यह समय के साथ आपके लिए फायदे की बात भी हो सकती है क्योंकि खिलाड़ियों पर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने या फिर वापसी का दवाब नहीं होगा।”

धीमी शुरुआत भी करें तो नहीं पड़ेगा फर्क

एमएस धोनी की कप्तानी वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने शुरुआती मुकाबलों में बेहतरीन प्रदर्शन किया। खेले गए 7 मैचों में से 5 मैच जीतकर CSK अंक तालिका में दूसरे स्थान पर मौजूद है। अब गौतम गंभीर ने प्ले ऑफ में पहुंचने को लेकर कहा,

“उन्होंने खुद को ऐसी स्थिति में रखा है कि अगर वे धीमी शुरुआत भी करते हैं, तो इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा। अगर वे एक या दो मैचों में धीमी शुरुआत करते हैं तो भी टॉप 4 के लिए क्वालीफाई कर पाएंगे और एक बार ऐसा करने के बाद यह किसी का भी गेम हो सकता है।”

वानखेड़े है मुश्किल मैदान

CSK-Faf Du Plesis

आईपीएल 2021 की शुरुआत भारत के चुनिंदा मैदानों पर की गई थी। CSK ने वानखड़े स्टेडियम में मैच खेले थे। अब गंभीर का कहना है कि जब वानखेड़े में उन्होंने अच्छा किया, तो यकीनन यूएई में वह आत्मविश्वास के साथ आएंगे। पूर्व केकेआर कप्तान ने कहा,

“इसके अलावा, वानखेड़े में खेलने के बाद, यदि आप इन परिस्थितियों में जा रहे हैं, तो आपकी स्थिति बेहतर होगी क्योंकि वानखेड़े बहुत मुश्किल मैदान है। ऐसी टीम होने के बावजूद उन्होंने इस पद पर बने रहने के लिए कुछ अच्छा किया है। वे उस विश्वास को अपने साथ ले जाएंगे।”