क्रिकेट

क्रिकेट मैदान पर हादसे तो कई बार होते हुए देखे गए हैं, कई बार खिलाड़ी बुरी तरह से चोटल हो जाता है, या कई बार ऐसी खबरें भी आई कि मैदान पर ही खिलाड़ी की मौत हो गई, लेकिन अब जो खबर सामने आई है, उसके बारे में जानने के बाद और वीडियो देखने के बाद आप भी शॉक्ड रह जाएंगे. ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

क्रिकेट मैदान से आई हैरान करने वाली खबर

क्रिकेट

दरअसल हाल ही में एक खिलाड़ी क्रीज पर बल्लेबाजी कर रहा था और अचानक से उसकी मौत हो गई. अब आप सोच रहे होंगे कि, ऐसा इंजर्ड होने की वजह से हुआ होगा, तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है. हमारी इस रिपोर्ट में जारी वीडियो को देखने के बाद आप भी समझ जाएंगे कि तरह से खिलाड़ी ने दम तोड़ा है.

खिलाड़ी की मौत गेंद लगने या फिर किसी भी तरह की चोट लगने से नहीं हुई है. यह मुकाबला महाराष्ट के पुणे जिले के जुन्नार तहसील के एक क्रिकेट मैदान पर खेला जा रहा था, तभी खिलाड़ी के साथ एक ऐसी घटना घटी कि वहां पर मौजूद अंपायर और बाकी खिलाड़ी भी हैरान रह गए.

क्रिकेट मैदान पर खेलने के दौरान खिलाड़ी की हुई मौत

क्रिकेट मैदान

बुद्धवार को 47 साल के खिलाड़ी ने मैच खेलने के दौरान ही दम तोड़ दिया. इससे जुड़ा एक वीडियो भी तेजी से वायरल हो रहे है, जिसे बार-बार देखा जा रहा है. वीडियो में आप देख सकते हैं कि, वो नॉन स्ट्राइक पर खड़ा है.
लेकिन अचानक से ही पहले वो क्रिकेट मैदान पर बैठने की कोशिश करता है, फिर थोड़ा झुकता है, और अचानक से ही वो पूरी तरह से पिच पर लेट जाता है.

खिलाड़ी को ऐसी हालत में देख अंपायर मैच रोकने की तरफ इशारा करते हैं, और भागते हुए उसके पास जाते हैं. इसके बाद वीडियो खत्म हो जाता है. हालांकि खिलाड़ी की गिरने के बाद ही मौत हो गई थी. बताया जा रहा है कि उसकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है. इस खिलाड़ी की पहचना बाबू नलवाडे के तौर पर हुई है, जो उसी इलाके का लोकल बल्लेबाज था.

क्रिकेट मैदान से सामने आया हादसे का पूरा वीडियो

क्रिकेट

ये पूरा हादसा जाधववाडी गांव के पास का है, जहां पर एक स्थानीय टूर्नामेंट आयोजित किया गया था. हालांकि खिलाड़ी की क्रिकेट मैदान पर ऐसी हालत में देखकर उसे एक प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था.

इस बारे में बात करते हुए एक अधिकारी ने बताया कि ऑटोप्सी से ये स्पष्ट हुआ है कि, खिलाड़ी को हार्ट अटैक आया था. हालांकि ये पहली बार नहीं, ऐसी घटनाएं कई बार क्रिकेट मैदान से सामने आई हैं.