ऑस्‍ट्रेलिया क्रिकेट संघ की गेंद से छेड़खानी मामले में प्रतिबंध झेलने वाले पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ, डेविड वार्नर और कैमरून बेनक्रॉफ्ट की सजा को कम कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में फिर से खेलने देने की मांग को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने ठुकरा दिया है. आप को बता दें कि बॉल टैम्‍परिंग मामला सामने आने के बाद तत्कालीन कप्तान स्मिथ, उपकप्तान वार्नर और बल्लेबाज बेनक्रॉफ्ट पर प्रतिबंध लगाया गया जबकि कोच डेरेन लेहमैन ने इस्तीफा दे दिया था. स्मिथ और वॉर्नर पर एक-एक साल और कैमरून बेनक्रॉफ्ट पर 9 माह का बैन लगाया गया था.

और पढें – सौरव गांगुली ने उठाया भारत के प्लेइंग इलेवन चयन पर सवाल, कहा क्यों नहीं मिल रहा इस खिलाड़ी को जगह

बोर्ड ने पुर्नविचार की मांग ठुकराई 

सीए के चेयरमैन डेविड पीवर ने पुर्नविचार की मांग को ठुकरा दिया हैं. इस मामले को लेकर पीवर ने कहा कि

“बोर्ड ने काफी विस्तृत विचार के बाद ये बैन लगाया था, इसलिए बैन जारी रहेगा. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बोर्ड का चेयरमैन होने के नाते दक्षिण अफ्रीका में जो हुआ मैं उसकी जिम्मेदारी स्वीकार करता हूं, लेकिन मुझे यकीन है कि हम यहां से आगे बढ़ने की स्थिति में हैं.”

आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि 

“हमने कई सबक सीखे और बेशक इसके बाद से काफी काम हुआ. खेलने वाले समूह और संगठन के भीतर हमें चीजों को आगे ले जाना होगा.”

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट संघ ने की थी बैन हटाने की मांग 

और पढें – सूर्यकुमार यादव ने धोनी को कॉपी करके खेलना चाहा हेलीकॉप्टर शॉट और फिर हुआ कुछ ऐसा

क्रिकेट खिलाड़ियों के इस संगठन ने सोमवार को यहां कहा कि

“खिलाड़ियों ने ऐसा दबाव में किया था. एक स्वतंत्र जांच समिति ने इसकी जांच के बाद बताया कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने खिलाड़ियों पर किसी भी कीमत पर जीत का दबाव बनाया था.”

एसीए के अध्यक्ष और पूर्व टेस्ट विकेटकीपर ग्रेग डायर ने कहा कि

“दक्षिण अफ्रीका में जो कुछ भी हुआ वह क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की संस्कृति और कार्यप्रणाली का नतीजा है जिसने खिलाड़ियों को किसी भी कीमत पर जीतने का दबाव बनाया.”

आगे बोलते हुए उन्होंने कहा था कि

“किसी भी जांच की निष्पक्षता के लिए यह जरूरी है कि खिलाड़ियों को ऐसा करने पर मजबूर करने वाले कारणों पर ध्यान दिया जाए और खिलाड़ियों की सजा कम की जाए. स्मिथ, वार्नर और बेनक्राफ्ट को मिले कठोर सजा पर फिर से विचार करना चाहिए.”

 

अगर आपकों हमारा आर्टिकल पसंद आया, तो प्लीज इसे लाइक करें. अपने दोस्तों तक ये खबर सबसे पहले पहुंचाने के लिए शेयर करें. साथ ही अगर आप कोई सुझाव देना चाहते हैं, तो प्लीज कमेंट करें. अगर आपने अब तक हमारा पेज लाइक नहीं किया हैं, तो कृपया अभी लाइक करें, जिससे लेटेस्ट अपडेट हम आपकों जल्दी पहुंचा सकें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here