Cheteshwar Pujara

भारतीय क्रिकेट टीम के टेस्ट स्पेशलिस्ट चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) की भूमिका टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में बहुत ही अहम होने वाली है। भारतीय टीम के इस बल्लेबाज ने भले ही पिछले कुछ वक्त से बड़ी पारी ना खेली हो, लेकिन उनकी मौजूदगी में टीम इंडिया मजबूत होती है और विपक्षी गेंदबाजों के लिए वह सिरदर्द बन जाते हैं। मगर क्या आप जानते हैं एक कीवी गेंदबाज ऐसा है, जिससे पुजारा को संभलकर रहना होगा।

Cheteshwar Pujara को ट्रेंट बोल्ट से खतरा

Cheteshwar Pujara

Cheteshwar Pujara को भारत की नई दीवार माना जाता है, क्योंकि एक बार जब वह सेट हो जाते हैं, तो उन्हें आउट करने में विपक्षी टीम के गेंदबाजों के छक्के छूट जाते हैं। लेकिन न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट की कहानी कुछ और ही है। जी हां, ये दोनों खिलाड़ी जब आमने-सामने आते हैं, तो बोल्ट के लिए पुजारा का विकेट निकालना कुछ खास मुश्किल नहीं पैदा करता।

अब तक 17 पारियों में सामना हुआ है और बाएं हाथ का ये तेज गेंदबाज 4 बार ‘दीवार’ गिराने में कामयाब रहा है। पुजारा ने बोल्ट के खिलाफ 299 गेंदों में 133 रन बनाए हैं और उनका औसत 33.25 रहा है। पुजारा ने 4 बार बोल्ट को विकेट दिया है। यदि भारत का 2020 न्यूजीलैंड दौरा याद करें, 2 मैच की 4 पारियों में बोल्ट ने पुजारा को 2 बार बोल्ड किया था। तो  ये आंकड़ें इस बात की गवाही दे रहे हैं कि पुजारा को WTC फाइनल में बोल्ट से सतर्क रहना होगा।

अच्छी लय में नहीं Cheteshwar Pujara

Cheteshwar Pujara

इस बात में संदेह नहीं किया जा सकता है कि Cheteshwar Pujara भारत की टेस्ट टीम के मुख्य खिलाड़ियों में से एक हैं। मगर भारत के लिए चिंता का विषय होगा, पुजारा का फॉर्म। दरअसल, पुजारा का इंग्लैंड दौरा कुछ खास नहीं रहा, वहीं ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने भारत को सीरीज जिताने में अहम भूमिका तो निभाई, क्योंकि वह विकेट के सामने दीवार बनकर खड़े रहे, मगर उनके बल्ले से अधिक रन नहीं निकले।

पुजारा ने 4 मैचों की 8 पारियों में 33.88 के औसत से 271 रन बनाए थे। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ वह 4 मैचों में 133 रन ही बना सके। मगर अब यदि भारत को टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में अपना दबदबा बनाना है, तो यकीनन पुजारा को एक बार फिर जिम्मेदारी के साथ मैदान पर खुद को सेट करके रन बनाने होंगे।