Cheteshwar Pujara

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) का विकेट किसी भी गेंदबाज के लिए उसके करियर के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट विकेटों में से एक होता होगा। दरअसल, पुजारा को विश्व क्रिकेट में भारत की नई दीवार के नाम से जाना जाता है, क्योंकि इससे पहले भारत के लिए दीवार का काम राहुल द्रविड़ किया करते थे। मगर अब इस आर्टिकल में हम आपको बताते हैं उन गेंदबाजों के बारे में जिन्होंने दिग्गज को घरेलू कंडीशन में सबसे ज्यादा बार आउट किया है।

Cheteshwar Pujara को सर्वाधिक बार किया आउट

टीम इंडिया के दिग्गज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) भारत के उन बल्लेबाजों में शुमार हैं, जिनका विकेट चटकाना किसी भी गेंदबाज के लिए बड़ी उपलब्धि होती है। मगर क्या आप जानते हैं कि अब तक पुजारा को एक टेस्ट सीरीज में सबसे अधिक बार किस गेंदबाज ने आउट किया है।

इस लिस्ट में पहले स्थान पर हैं ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज पैट कमिंस। वह पुजारा को एक सीरीज में 5 बार पवेलियन का रास्ता दिखा चुके हैं। वहीं इसमें अब इंग्लैंड की ओर से पहली बार भारत दौरे पर आए स्पिनर जैक लीच का नाम जुड़ गया है, क्योंकि उन्होंने चल रही इंग्लैंड सीरीज में अब तक पुजारा को 9 पारियों में 4 बार पवेलियन का रास्ता दिखाया है।

इंग्लैंड सीरीज में फ्लॉप रहे Cheteshwar Pujara

भारत के दिग्गज बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) अब तक इंग्लैंड सीरीज में कुछ खास बल्लेबाजी नहीं कर सके हैं। उनके बल्ले से मात्र एक अर्धशतक निकला है, उसके अलावा इंग्लैंड सीरीज में अब तक इंग्लिश गेंदबाजों ने पुजारा को बिल्कुल शांत रखा हुआ है।

पुजारा क्रमश: 73,15, 21,7,0, 17 के रन के स्कोर पर आउट हुए हैं। इसके चलते एक बार फिर पुजारा को सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग शुरु हो गई है। हालांकि कप्तान विराट कोहली ने पुजारा का सपोर्ट किया था।

चेतेश्वर पुजारा के टेस्ट आंकड़े शानदार

Cheteshwar Pujara

टीम इंडिया के दिग्गज चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) भारत के लिए नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते हैं। राहुल द्रविड़ के बाद से उन्होंने इस क्रम पर अपनी जगह पक्की कर ली। अब तक पुजारा ने भारत के लिए 84 टेस्ट मैच खेले हैं, जिसमें वह 46.81 के औसत से 6227 रन बनाने में कामयाब रहे हैं। इस दौरान उन्होंने 18 शतक 29 अर्धशतक भी बनाए हैं।

2018-19 में जब भारत ने ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक बॉर्डर-गावस्कर सीरीज जीती थी, उसमें पुजारा का बड़ा योगदान था, वह सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। इसके लिए उन्हें प्लेयर ऑफ द सीरीज के खिताब से नवाजा गया था।