Cheteshwar Pujara 1

आईपीएल 2021 ऑक्शन का आयोजन चेन्नई में 18 फरवरी को हुआ। इस ऑक्शन में सबसे मंहगे 16.25 करोड़  बिकने वाले क्रिस मॉरिस सबसे बड़ी खबर जरुर रहे। लेकिन इस ऑक्शन में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम ने एक ऐसे खिलाड़ी पर बोली लगाई, जिसके बाद सभी फ्रेंचाइजियां खुश नजर आईं और वह खिलाड़ी भारत के अनुभवी टेस्ट बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा रहे।

चेतेश्वर पुजारा को मिला खरीददार तो तालियों से गूंज उठा ऑक्शन हॉल

आईपीएल ऑक्शन जब-जब होता है, तब-तब इतिहास रचा जाता है। आईपीएल 2021 में भी सभी फ्रेंचाइजियों ने करोड़ों की बोली लगाकर खिलाड़ियों को खरीदा। लेकिन जब ऑक्शन हॉल में चेतेश्वर पुजारा का नाम आया, तो सभी को लग रहा था कि पिछले सीजनों की तरह इस बार भी पुजारा को खरीददार नहीं मिलेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

जी हां, चेन्नई सुपर किंग्स ने पुजारा पर बोली लगाई और उन्हें 50 लाख के बेस प्राइज पर खरीदकर अपनी टीम में शामिल किया है। जब चेन्नई ने पुजारा को खरीदा, तो ऑक्शन हॉल में बैठी सभी फ्रेंचाइजियां ताली बजाने लगीं और उनकी तालियों से हॉल में पुजारा को सम्मान दिया है। ना केवल वहां मौजूद लोग खुश दिखे, बल्कि पुजारा के बिकने पर सोशल मीडिया पर भी फैंस की खुशी का ठिकाना नहीं था।

पिछले सीजनों में अनसोल्ड थे पुजारा

आईपीएल 2021 में एक लंबे इंतजार के बाद चेतेश्वर पुजारा को ऑक्शन में खरीददार मिल गया। बता दें, पुजारा ने 2011 से 2014 तक आईपीएल में तीन फ्रेंचाइजियों के लिए खेला है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों से वह ऑक्शन में अपना नाम ड्रॉफ्ट तो करते हैं लेकिन कोई फ्रेंचाइजी उन्हें खरीदने में दिलचस्पी नहीं दिखाती है।

इसका प्रमुख कारण उनका टेस्ट स्पेसलिस्ट बल्लेबाज होना रहा होगा क्योंकि पुजारा की छवि टेस्ट प्लेयर की बन चुकी है। हालांकि चेन्नई सुपर किंग्स द्वारा जब उन्हें खरीदा गया, तो उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए चेन्नई को भरोसा जताने के लिए शुक्रिया अदा भी किया।

टेस्ट क्रिकेट में लगातार कर रहे हैं अच्छा प्रदर्शन

चेतेश्वर पुजारा

भारत की टेस्ट टीम की आन-बान-शान चेतेश्वर पुजारा एक बेहतरीन टेस्ट बल्लेबाज हैं। उन्हें विश्व क्रिकेट में नई दीवार के नाम से जानते हैं क्योंकि जब वह क्रीज पर सेट हो जाते हैं, तो फिर उन्हें आउट करने में दिग्गज से दिग्गज गेंदबाज के भी पसीने छूट जाते हैं।

पुजारा ने बॉर्डर-गावस्कर सीरीज 2018-19 में ऐतिहासिक जीत दिलाने में बड़ी भूमिका निभाई थी और हाल ही में जब भारत, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बॉर्डर-गावस्कर सीरीज खेलने गया, तो उन्होंने एक बार फिर क्वालिटी बल्लेबाजी की और ट्रॉफी को बरकरार रखने में अहम योगदान दिया।