dhoni

रंगारंग कार्यक्रम के साथ आईपीएल 2018 का आगाज हो चुका है। लगभग डेढ़ घंटे की मनमोहक प्रस्तुतियों से फिल्मी जगत की तमाम हस्तियों ने लोगों का दिल जीत लिया। टॉस जीतते हुए चेन्नई सुपरकिंग्स ने पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियन की शुरूआत काफी निराशा भरी रही।

पारी के तीसरे ओवर की पहली में ही टीम को ईविन लुईस के रूप में बड़ा झटका लगा। लुईस का विकेट चेन्नई के तेज गेंदबाज दीपक चहर ने झटका। मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट के नुकसान पर 165 रन बनाए। चेन्नई को जीत के लिए 166 रनों की जरूरत है।

फ्लॉप रहे रोहित शर्मा

hit

मुंबई इंडियंस को सबसे ज्यादा उम्मीद कप्तान रोहित शर्मा से थी लेकिन वो पहले मैच ही फ्लॉप हो गए। शेन वॉट्सन की गेंद में आसान सा कैच का शिकार हो गए। चौथे ओवर में रोहित शर्मा के बल्ले से इस आईपीएल का पहला छक्का निकला।

वाट्सन की अगली गेंद पर छक्का मारने की कोशिश में रोहित शर्मा कैच आउट हो गए। अंबाती रायडू ने शानदार तरीके से कैच लपककर शर्मा को पवेलियन का  रास्ता दिखा दिया। रोहित शर्मा ने 18 गेंदों पर 15 रन बना पाए।

किशन, सूर्य कुमार और कुणाल ने संभाली पारी

07 04 2018 ishan kishan 1

दो विकेट गिरने के बाद ईशन किशन और सूर्य कुमार ने लाजवाब बल्लेबाजी करते हुए टीम को मुश्किल हालातों से उबारा। सूर्यकुमार ने 29 गेंदों में 43 रन बनाए। हालांकि रोहित शर्मा की तर्ज में छक्का लगाने की कोशिश में वाट्सन की गेंद में आसान सा कैच का शिकार हो गए।

वहीं ईशान किशन ने टीम के लिए 29 गेंदों में 40 रन बनाए। कुणाल पांड्या ने भी बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 22 गेंदों पर 41 रन बनाए। हार्दिक पांड्या ने 20 गेंदों में 22 रन बनाए। हालांकि मैच के अंत में वो गंभीर रूप से चोटिल हो गए। चेन्नई की तरफ से शेन वॉटसन ने दो जबकि दीपक चहर और इमरान ताहिर को एक-एक सफलता हाथ लगी।

चेन्नई के लिए शुरूआत से ही थी मुश्किल डगर

VRP 1018
क्रेडिट-बीसीसीआई

चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से शेन वॉट्सन व अंबाती रायडू बतौर सलामी बल्लेबाज उतरे। दोनों ही खिलाड़ियो ने सधे अंदाज में खेलते हुए टीम को मजबूत स्थित में ला रहे थे। हार्दिक पांड्या की तीसरी गेंद पर सिक्स लगाने के बाद अगली गेंद में वॉट्सन बाउंड्री पर कैच हो गए। वॉट्सन का कैच लुईस ने लपका।

27 रन के स्कोर पर टीम को पहला झटका लगा। वॉट्सन ने 14 गेंदों में 16 रन बनाए। वॉट्सन की जगह बल्लेबाजी करने उतरे सुरेश रैना महज चार रन बनाकर पवेलियन लौट आए। सुरेश रैना का विकेट भी हार्दिक पांड्या ने लिया। सधी बल्लेबाजी कर रहे रायडू का भी टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाए। युवा गेंदबाज मंयक मार्कंडेय की गेंद में एलबीडब्यू होकर पवेलिन वापस जाना पड़ा। रायडू ने 19 गेंदों पर 22 रन बनाए थे।

धोनी,अंबाती हुए एलबीडब्ल्यू का शिकार

RON 0428
क्रेडिट- बीसीसीआई

चेन्नई सुपरकिंग्स की मुश्किलें पूरे मैच में कम होने का नाम नहीं ले रही थी। वाट्सन,रैना,रायडू के बाद बल्लेबाजी करने उतरे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी टीम के लिए कुछ खास नहीं कर पाए। शुरूआती झटको से परेशान टीम को आठवें ओवर में एमएस धोनी के रूप में एक और झटका लग गया।

धोनी ने 5 गेंदों का सामना करते हुए 5 रन बनाए। पहली बार आईपीएल खेल रहे पंजाब के युवा खिलाड़ी मयंक मार्कंडेय ने धोनी को एलबीडब्ल्यू आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। रवींद्र जडेजा भी ने टीम के लिए केवल 12 रन ही जोड़ पाए।

ब्रावो के तूफान के आगे उड़े मुंबई के जीत के मंसूबे

VRP 1166 1

चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से टीम की आखिरी उम्मीद ड्वेन ब्रावो ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस की सांसे धमा दी। चमत्कारी बल्लेबाजी करते हुए ब्रावो ने सभी की सांसे थमा दी। ब्रावो ने अपनी बल्लेबाजी के दम पर पूरा मैच पलटने की कोशिश की और उसमें कामयाब रही। आखिरी ओवरों में ब्रावो को तूफान के आगे मुंबई की सारी तैयारी धरी की धरी रह गए। ब्रावो ने 30 गेंदों में 68 रन की शानदार पारी खेली।

ब्रावो ने अपनी पारी में 7 छक्के और तीन चौके जड़े। इसके बाद बुमराह की गेंद पर कैच आउट हो गए। अंतिम में बल्लेबाजी करने उतरे केदार जाधव ने छक्का लगाकर मैच को 165 रन पर बराबरी में ला दिया। टीम को जीत के लिए दो गेंदों पर 1 रन चाहिए थे। अंतिम गेंद पर केदार जाधव ने शानदार शॉट खेलकर चेन्नई सुपरकिंग्स को अविश्वसनीय जीत दिलाई। मुंबई की तरफ से हार्दिक पांड्या , मयंक मार्कंडेय ने तीन-तीन विकेट झटके।

जीत के बाद क्या बोले धोनी

VRP 7106
फोटो क्रेडिट- बीसीसीआई

मैच जीतने के बाद धोनी ने अपने बयान में कहा कि,

”मुझे लगता है कि वे प्रतियोगिता से चूक  गए हैं। (वानखेड़े में प्रशंसकों द्वारा सीएसके के जयकार पर) सीएसके-एमआई के खेल का लोगों का इंतजार था। जब भी हम वहां खेले लोगों ने मेरा समर्थन किया। हम दो साल बाद वापस आए हैं। यही कारण था कि लोग हमें देखने के लिए उत्सुक थे। कुलमिलाकर दर्शको ं ने अच्छा किया। मैं एक व्यवहारिक व्यक्ति हूं,इसलिए मैं ड्रेसिंग रूम में उम्मीद कर रहा था कि हार की मात्रा बहुत बड़ी होनी चाहिए। यह विचार था कि यदि जीतने का मौका हो तो लक्ष्य के करीब जाएं। ब्रावो ने जिस तरह से बल्लेबाजी की वो देखना जरूरी था।उन्हें जिम्मेदारी लेनी चाहिए। मत सोचों की हमने एक टीम के रूप में पहले बल्लेबाजी की है। लेकिन यह पहला गेम हैं इसे हमें सकारात्मक लेना चाहिए। यह हमारे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है। हमें खिलाड़ियों के क्रम और चोट लगने वाले खिलाड़ियों पर नजर रखना है। हमारे पास कुछ और खिलाड़ी हैं जो बैट और गेंद से अच्छा कर सकते हैं।”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *