मुथैया मुरलीधरन

आईपीएल में सफलता के शिखर को छूने वाली फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपर किंग्स के सभी खिलाड़ी इसे बहुत ज्यादा पसंद करते हैं. ऐसा एक बार फिर से नजर आया है. श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने बताया है कि वो जितनी भी फ्रेंचाइजी से खेले. उसमें चेन्नई सुपर किंग्स की टीम एक नंबर पर है.

मुथैया मुरलीधरन ने बताया चेन्नई सुपर किंग्स को पसंदीदा

मुथैया मुरलीधरन

जिस खिलाड़ी ने भी आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए वो उसी टीम को अपना पसंदीदा बताता हुआ नजर आता है. अब ऐसा ही कुछ इस टीम के लिए शुरू में खेले श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने भी कहा है. मुथैया मुरलीधरन ने स्टार स्पोर्ट्स तमिल पर माइंड मास्टर्स शो के दौरान कहा

” मैंने 6 से 7 साल तक लंकाशायर के लिए भी खेला है, लेकिन मैं कहता हूं कि चेन्नई सुपर किंग्स सबसे अच्छी फ्रेंचाइजी टीम थी. मैंने इस टीम के साथ अपने खेल का काफी लुफ्त उठाया था. मैंने आईपीएल नीलामी से पहले प्रार्थना की थी कि मैं चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के लिए चुना जाऊ, क्योंकि मैंने सोचा था कि टीम में चेन्नई के लोग होंगे, जिनसे मुझे बात करने में आसानी होगी.”

तमिल में मुथैया मुरलीधरन खिलाड़ियों से करते थे बात

जब आईपीएल की शुरुआत हुई तो पहले सीजन में ही चेन्नई सुपर किंग्स ने मुथैया मुरलीधरन को अपने टीम में 4.5 करोड़ की बड़ी रकम देकर जोड़ा था. उन्होंने आईपीएल 2008 से 2010 तक इस टीम में खेला. जहाँ पर 40 मैच में 40 विकेट हासिल किये. टीम में तमिल भाषा की बात पर मुरलीधरन ने कहा कि

” उस समय, एक अच्छा नियम था, जहां स्थानीय खिलाड़ियों को टीम में होना अनिवार्य था. मेरे लिए भी आईपीएल के पहले तीन साल सबसे अच्छे साल थे, क्योंकि हम अपनी भाषा में बात कर सकते थे. हम लगभग 7-8 लोग थे और यहां तक कि वीबी सर (वीबी चंद्रशेखर) भी थे. जिन्होंने हमें चुना था.”

अब भी आईपीएल से जुड़े हुए हैं मुरलीधरन

संन्यास के बाद वो कुछ सीजन तो इस लीग से दूर रहे लेकिन फिर वो सनराइजर्स हैदराबाद के लिए लंबे समय से गेंदबाजी मेंटर के रूप में काम कर रहे हैं. श्रीलंका के लिए उन्होंने कई अहम रिकॉर्ड बनाये. तीनो फ़ॉर्मेट में मिलाकर उन्होंने 495 मैच खेले हैं. जिसमें 1347 विकेट अपने नाम किया है. जो इस खिलाड़ी का स्तर बताने के लिए बहुत ज्यादा है.