chennai-IPL
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

आईपीएल (IPL) की कामयाब टीमों के बारे में जब भी बात होती है, तब चेन्नई सुपर किंग्स (chennai super kings) का भी नाम आता है. महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में अब तक टीम का बेहतरीन प्रदर्शन रहा है. यहां तक सीएसके 3 बार चैंपियन बनने का सपना भी पूरा कर चुकी है. बीते सीजन में चेन्नई का प्रदर्शन बाकी सीजन के मुकाबले बेहद खराब था. यहां तक कि, प्लेऑफ में पहुंचने से पहले ही टीम अंकतालिका से बाहर हो गई थी. सीएसके का इतिहास रहा है कि, इस टीम के मालिक ने कभी टीम को लेकर कोई दखअंदाजी नहीं की है.

ऐसे में टीम से जुड़े सभी फैसले एमएस धोनी खुद की मर्जी से लेते है. उन्हें इसके लिए मालिक की ओर से पूरी छूट दी गई है. इसलिए कप्तान अपनी योजना के मुाबिक सारे कार्य करते हैं. सीएसके का एक और इतिहास रहा है कि, जब भी टीम किसी नए खिलाड़ी को मौका देती है, तो उस पर पूरा भरोसा जताती है. इसका एक बड़ा उदाहरण ऋतुराज गायकवाड़ भी हैं. लेकिन, इस टीम ने कुछ खिलाड़ियों को नजरअंदाज भी किया है. ऐसे ही तीन खिलाड़ियों के बारे में हम आपको इस खास रिपोर्ट के जरिए बताने जा रहे हैं.

इरफान पठान

chennai

सबसे इस लिस्ट में हम बात करेंगे टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान (irfan pathan) की. जो एक दौर में अपनी काबिलियत की वजह से आईपीएल में लगभग सभी टीमों की डिमांड हुआ करते हुए करते थे. उनमें खास बात यह थी कि, वह जबरदस्त गेंदबाजी तो करते ही थे. लेकिन, इसके साथ ही वो तेजी से रन बनाने की भी काबिलियत रखते थे. साल 2015 की बात है, जब इरफान पठान टीम इंडिया से बाहर थे.

इस दौरान ऑक्शन में इरफान को चेन्नई सुपर किंग्स (chennai super kings) ने अपनी टीम में खरीदा था. उस वक्त लोगों के उम्मीद थी कि, एक बार फिर इरफान के लिए यह कदम उनके करियर को एक अच्छे ट्रैक पर लाने में मदद करेगा. लेकिन, टीम में जडेजा और ब्रावो की मौजूदगी ने ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान के करियर पर ब्रेक लगा दिया. उन्हें इस साल एक भी मुकाबले की प्लेइंग 11 में खेलने का मौका नहीं दिया गया. इसके बाद अगले ही सीजन में उन्हें रिलीज कर दिया गया.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse