भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी और बीजेपी के सांसद गौतम गंभीर को बहुत साफ़ छवि का माना जाता है. उन्होंने अपने करियर खत्म करने के बाद समाजसेवा के लिए काम करना शुरू कर दिया. लेकिन राजनीती में आने के बाद उनपर आरोप लगते हैं. अब गंभीर के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में दिल्ली पुलिस के पास एफआईआर दर्ज कराया गया है.

गौतम गंभीर के खिलाफ दर्ज हुआ एफआईआर 

पूर्व भारतीय क्रिकेटर गौतम गंभीर के खिलाफ दिल्ली पुलिस के पास एक एफआईआर दर्ज हुआ है. जिसमें गंभीर के साथ कुछ और लोगो का नाम भी दर्ज है. इन सभी लोगो पर दिल्ली पुलिस ने कई धारा के तहत केश दर्ज किया है. इन सभी लोगो पर पैसे लेकर फ़्लैट ना देने का आरोप है.

दरअसल मामला 2011 का है जब 50 लोगो से घर देने के नाम पर करोडो रूपये ले लिए गये और उन्हें अब तक घर नहीं दिया है. घर देने का वादा रूद्र बिल्डवेल प्राइवेट लिमिटेड और एचआर इन्फ्रासिटी प्राइवेट लिमिटेड ने किया था. जो अभी तक पूरा नहीं किया है.

मामले में सीधे तौर पर जुड़ें हुए हैं गौतम गंभीर

गौतम गंभीर

इस मामले में गौतम गंभीर पर आरोप इसलिए लग रहा है क्योंकि वो उस समय कंपनी के ब्रांड एम्बेसडर थे और उसके साथ ही डायरेक्टर भी थे. ये बिल्डिंग 2013 तक बन जानी थी लेकिन आजतक उसका काम पूरा नहीं हो पाया है.

जिसके बाद 2014 में लोगो के साथ हुआ अग्रीमेंट भी रद्द कर दिया गया. गंभीर के साथ इस केस में मुकेश खुराना, गौतम मेहरा और बबिता खुराना के खिलाफ भी केस दर्ज हैं. गौतम से पहले ऐसे ही एक मामले में महेंद्र सिंह धोनी पर भी केस किया गया था.

दो विश्व कप जीत के हीरो रहे हैं गौतम गंभीर 

भारत की टीम के लिए दो विश्व कप के फाइनल मुकाबले में गौतम गंभीर ने सबसे ज्यादा रन बनाये हैं. 2011 विश्व कप के फाइनल मैच की पारी आज भी लोगो को याद हैं. गौतम गंभीर ने पिछले साल ही अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की थी.