images 53
Pic credit: Getty imaged

टेस्ट क्रिकेट हमेशा से क्रिकेट जगत का सबसे महत्वपूर्ण फॉरमेट रहा हैं। अपने देश के लिए टेस्ट खेलना भी खिलाड़ियों के लिए बड़े सम्मान की बात हैं। टेस्ट मुकाबलों में कौन सी टीम किस खिलाड़ी को प्लेइंग 11 में जगह दे रही हैं यह बड़ी ही जरूरी बात रहती हैं।

आपको पता रहता हैं कि अगले पांच दिन आपको स्पिनर्स को ज्यादा खेलना हैं या फिर तेज गेंदबाजो को। अधिकतर सभी कप्तान यह कोशिश करते हैं कि टेस्ट में उनकी प्लेइंग 11 हमेशा स्थिर रहे क्योंकि टेस्ट में अनुभव का बड़ा महत्व हैं।

570906 virat kohli test pti
Pic credit: Getty images

उदाहरण के तौर पर आप देख सकते हैं जैसे इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मुकाबले में विराट ने पुजारा को आराम दे टीम में के एल राहुल को जगह दी।

आइए जानते हैं ऐसे पांच टेस्ट कप्तान के बारे में जिन्होंने टेस्ट के लगातार मुकाबलों में एक ही प्लेइंग 11 के साथ नहीं खेला।

#1. ग्रैम स्मिथ (साउथ अफ्रीका) – 43 टेस्ट

4 popular players who are part of disbanded Pune warrior
Credit: Hindustan Times

बिना किसी संदेह साउथ अफ्रीकन कप्तान स्मिथ टेस्ट के बेहतरीन कप्तानों में से एक हैं। इन्होंने साउथ अफ्रीका की कप्तानी साल 2003 से 2007 तक की और अपने नाम कप्तान के तौर पर लगातार अलग-अलग प्लेइंग 11 के साथ खेलने का रिकॉर्ड बना दिया। उन्होंने लगातार 43 टेस्ट मुकाबलों में अलग-अलग टेस्ट टीम के साथ मुकाबले खेले।

#2. विराट कोहली (भारत)- 36* मुकाबले

virat-kohli
Pic credit: Getty images

मौजूदा समय में भारतीय कप्तान विराट कोहली अब तक एक प्लेइंग 11 के साथ मौदान पर टेस्ट मुकाबला खेलने नहीं उतरे हैं।

इन 36 मुकाबलों में बीते 1 अगस्त से चल रहा पहला टेस्ट मैच भी हैं। वह अब तक 36 मुकाबलों में भारत की कप्तानी कर चुके हैं और इन 36 मुकाबलों में विराट अलग-अलग प्लेइंग 11 के साथ मैदान पर उतरे हैं।

#3. मुशफिकुर रहमान (बांग्लादेश)-34*

images 51
Pic credit: Getty images

2011 से 2017 तक मुशफिकुर रहमान ने बांग्लादेश टीम की टेस्ट कप्तानी की। इन्होंने कप्तान के तौर पर बांग्लादेश के लिए 34 टेस्ट मुकाबलों में कप्तानी की हैं और 34 मुकाबलो में अलग-अलग प्लयिंग 11 के साथ मैदान ओर उतरे हैं। टेस्ट कप्तान के तौर पर इन्होंने बांग्लादेश के लिए सबसे अधिक टेस्ट जीते हैं।

#4. रे इललिंगरोथ (इंग्लैंड)- 31 टेस्ट

images 52
Alamy stock

रे इललिंगरोथ ने इंग्लैंड टीम की कप्तानी 1969 से 1973 तक की। इस दौरान इन्होंने कुल 31 टेस्ट मुकाबले अलग-अलग प्लेइंग 11 के साथ खेला और मजे की बात यह हैं कि कप्तानी के तौर पर अपने टेस्ट कैरियर में इन्होंने एक बार भी सैम प्लेइंग 11 के साथ मुकाबला नहीं खेला।

#5. सौरव गांगुली(भारत)- 28

7 Indian batsmen whose Test centuries have never resulted in defeat
Deccanchronicle

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली भी इस सूची में आते हैं। इन्होंने अपने टेस्ट कैरियर में कुल 49 मुकाबलों में भारत की कप्तानी की हैं। जिसमें 28 टेस्ट मुकाबलों में लगातार सौरव अलग-अलग प्लेइंग 11 के साथ मैदान में उतरे हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.