lnGmxELU

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली ने कहा कि सचिन तेंदुलकर अपने युग के सबसे महान बल्लेबाज थे. सचिन तेंदुलकर ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से ना सिर्फ फैंस का दिल जीता, बल्कि अनेकों रिकार्ड्स भी बनाई और उनका टीम की सफलता में अहम योगदान रहा. 1990 के दशक में सचिन हमेशा विश्व स्तरीय गेंदबाजों पर हावी रहे थे.

ली ने कहा कि सचिन के पास हमेशा तेज गेंदबाजों के खिलाफ खेलने के लिए अतिरिक्त समय होता था. सचिन तकनीकी रूप से मजबूत थे. मास्टर ब्लास्टर ने ज्यादातर अपने खेल के शीर्ष पर बल्लेबाजी की और 24 सालों तक लगातार निरंतरता से देश की सेवा करते रहे.

दोनों के बीच देखने को मिलती थी जबरदस्त टक्कर

pjimage 2020 05 26t195755 1590503303

सचिन वनडे और टेस्ट प्रारूप में सबसे ज्यादा रन और शतक बनाने वाले खिलाड़ी रहे. दाएं हाथ के बल्लेबाज़ ने 463 एकदिवसीय मैचों में 18426 रन बनाए, जबकि 200 टेस्ट मैचों में 15921 रन बनाए.

सचिन और ब्रेट ली के बीच हमेशा से ही कड़ी प्रतिद्वंद्वीता देखने को मिली. ली ने तेंदुलकर को टेस्ट मैचों में पांच बार आउट किया, जबकि महान बल्लेबाज ने बनाम ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज 242 रन बनाए. वहीं वनडे में ली ने सचिन का सात बार शिकार किया और सचिन उनके विरुद्ध केवल 199 रन ही बना सके.

सचिन के पास था अधिक समय

90984 sachin tendulkar 700
Indian cricketer Sachin Tendulkar celebrates after scoring a century during the second One Day International (ODI) cricket match at the Captain Roop Singh Stadium in Gwalior on February 24, 2010. India are currently 198 runs for the loss of one wicket after thirty overs after electing to bat first. AFP PHOTO/ MANAN VATSYAYANA

मशहूर क्रिकेट कमेंटेटर पम्मी मिंगंगवा के साथ इंस्टाग्राम लाइव के दौरान बात करते हुए ली ने कहा, “आप सचिन तेंदुलकर के बारे में सोचते हैं, ऐसा लग रहा था कि उनके पास अधिक समय था. क्रिकेट में समय का मतलब समझाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि ऐसा लगा कि सचिन वापसी क्रीज पर बल्लेबाजी कर रहे हैं, स्टंप्स के बगल में बल्लेबाजी कर रहे हैं, ऐसा लगा जैसे उनके पास मेरे खिलाफ खेलने के लिए अधिक समय है, मेरी राय में वह दुनिया का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज.”

दूसरी ओर, ब्रेट ली ने वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज ब्रायन लारा की प्रशंसा की, जिनकी अक्सर सचिन तेंदुलकर के साथ तुलना की जाती है. ली ने कहा कि लारा एक गेंद को स्टेडियम के छह अलग-अलग हिस्सों में तोड़ सकती है और इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप उस पर कितनी जल्दी गेंदबाजी करते हैं.

मगर कैलिस थे एक पूर्ण खिलाड़ी

DQ0Q2146

वहीं ब्रेट ली एक सम्पूर्ण क्रिकेटर के रूप में दक्षिण अफ्रीका के दिग्गज जैक कैलिस के नाम का चयन किया. कैलिस ने 166 टेस्ट मैचों में 55.37 की औसत से 13289 रन बनाए. दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 328 मैचों में 44.36 की औसत से 11579 रन बनाए.

कैलिस ने टेस्ट में 292 विकेट झटके, जबकि उन्होंने अपने वनडे करियर में 273 विकेट झटके। इसके अलावा, वह एक बेहतरीन स्लिप फील्डर थे. इस प्रकार, कैलिस एक क्रिकेटर के रूप में एक पूर्ण पैकेज थे.

लारा और सचिन ने जब आप महान बल्लेबाजों के बारे में बात करते हैं तो गर्दन से गर्दन झुक जाते हैं. मेरी राय में, सचिन सबसे महान बल्लेबाज हैं, लेकिन एक पूर्ण क्रिकेटर जैक कैलिस है.

AKHIL GUPTA

क्रिकेट...क्रिकेट...क्रिकेट...इस नाम के अलावा मुझे और कुछ पता नहीं हैं. बस क्रिकेट...