आईपीएल 2018 का आगाज मुंबई के वानखेड़े क्रिकेट स्टेडियम से हो चुका है। आईपीएल का पहला मुकाबला चेन्नई सुपरकिंग्स बनाम मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया। टॉस जीतकर चेन्नई ने पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई इंडियंस ने चार विकेट खोते हुए 165 रन बनाए। चेन्नई को जीत के लिए 166 रनों की जरूरत थी।

जवाब में उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स की हालात बेहद खस्ताहाल थी। पंजाब के युवा गेंदबाज मंयक मार्कंडेय को इस बार मुंबई ने अपनी टीम में कई उम्मीदों के साथ शामिल किया था। टीम की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए मंयक ने चेन्नई सुपरकिंग्स के अपना कहर पर बरपाना शुरू कर दिया।

मयंक मार्कंडेय ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए चेन्नई के तीन विकेट झटके। लेकिन चेन्नई सुपरकिंग्स के धुरांधर ऑल राउंडर ने मुंबई इंडियंस के जीते-जिताए मैच को उनके पंजे से छीन लाए। ब्रावो की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी देखकर सभी की सांसे थम गई थी।

मुंबई इंडियंस ने बनाए 165 रन 

फोटो क्रेडिट- बीसीसीआई

पहले बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियंस की शुरूआत कोई अच्छी नहीं थी। टीम का पहला विकेट 7 रन के स्कोर पर ईविन लुईस के रूप में गिरा। लुईस खाता भी नहीं खोल पाए थे। इसके बाद 20 रन के स्कोर में कप्तान रोहित शर्मा 15 रन बनाने के बाद वॉट्सन की गेंद पर आउट हो गए।

टीम के लिए सूर्य कुमार ने 29 गेंदों में 43 रन और ईशान किशन ने 20 गेंदों में 40 रन बनाकर टीम को मजबूत स्थित में पहुंचाया। बाद में कुणाल पांड्या ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए 22 गेंदों पर 41 रन और हार्दिक पांड्या ने 20 गेंदों पर 21 रन बनाकर टीम का स्कोर 165 रन पहुंचाया।

चेन्नई की खस्ता थी हालत

फोटो क्रेडिट- बीसीसीआई

जवाब में उतरी चेन्नई सुपरकिंग्स ने 85 रन में ही टीम के छह बड़े विकेट खो दिए थे। सलामी बल्लेबाज वॉट्सन ने 16 रन और अंबाती रायडू ने टीम के लिए 22 रन बनाए। सुरेश रैना टीम को महज 4 रन का योगदान दे पाए।

रविंद्र जडेजा भी कुछ खास नहीं कर पाए और वो भी 12 रन बनाकर चल निकले। कुलामिलाकर चेन्नई की हालत खराब थी। सबकी निगाहे केदार जाधव पर टिकी थी लेकिन वो चोट के चलते मैच से बाहर हो गए ।

ऐसे आया ब्रावो का तूफान

फोटो क्रेडिट- बीसीसीआई

जब तक ब्रावो मैदान में थे तब तक सभी निगाहें जीत की आशा से देख रही थी। हालांकि ब्रावो भी लोगों की उम्मीदों में खरा उतरे। ब्रावो ने जिस तरह ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की वाकई वो काबिले-ए-तारीफ थी। सांसे थमा देने वाले इस मैच में ब्रावो ने मुंबई के हाथ से जीत छीनकर लाए हैं।

ब्रावो ने 30 गेंदों का सामना करते हुए 68 रन बनाए। इस दौरान ब्रावो के बल्ले से 7 छक्के और 3 चौके भी निकले। अंत में केदार जाधव ने 1 चौका और 1छक्का जड़ते हुए मैच चेन्नई के नाम कर दिया। तूफानी बल्लेबाजी करने वाले ब्रावो को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

किंग्स के प्रसंशको को समर्पित की जीत

तूफानी बल्लेबाजी के दमपर मैच का पांसा पलटने वाले ड्वेन ब्रावो ने सभी प्रशंसकों का आभार जताते हुए टीम की जीत पर खुशी व्यक्त की।

इस दौरान ब्रावो ने कहा कि,

“टीम की जीत में योगदान देकर बहुत खुश हूं यह हमारी पूरी टीम का एक अच्छा प्रयास है। यह जीत में चेन्नई सुपर किंग के प्रशंसकों को समर्पित करता हूं। उन्होंने इस पल का बहुत समय से इंतजार किया है।मैं अच्छी शुरूआत करके खुद को मौका देना चाहता था, क्योंकि अगर आप वानखेड़े में देर तक बल्लेबाजी करते ही तो आपके बल्ले में अच्छी तरह से गेंद आती है और आपके पास अपनी टीम को जीताने का अच्छा मौका होता है। मैं आज अपनी टीम की इस जीत से खुश हूं।”

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *