shreyasgopal

इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) में राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल (Shreyas Gopal) ने अपनी सफलता का श्रेय पूर्व भारतीय क्रिकेटर और द वाल के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को दिया है. आज गोपाल ने भले ही स्पिन गेंदबाजी में नाम कमाया है, लेकिन जब वो अंडर 16-17 में खेलते थे तब बल्लेबाजी ही उनकी पसंदीदा थी. उस वक्त तो गेंदबाजी बस वो मजे के लिए करते थे.

द्रविड़ ने कहा था गेंदबाजी करने के लिए

rahul dravid and shreyas gopal

कर्नाटक टीम के लिए खेलने वाले श्रेयस गोपाल (Shreyas Gopal) ने अपने करियर की शुरुआत एक बल्लेबाज के रूप में की थी. एक बार रणजी कैंप में द वाल राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने उन्हें बल्लेबाजी और गेंदबाजी करते हुए देखा. तब द्रविड़ ने श्रेयस से अपनी गेंदबाजी पर ज्यादा फोकस करने के लिए कहा साथ ही यह भी कहा कि उनकी गेंदबाजी ही उन्हें आगे ले जाएगी.

पहले तो गोपाल को यह बात बिलकुल अच्छी नहीं लगी क्योंकि उन्हें बल्लेबाजी ज्यादा अच्छी लगती थी. लेकिन, कुछ दिनों बाद से वो अपनी गेंदबाजी पर ज्यादा फोकस करने लगे. बाद में कर्नाटक की रणजी टीम में उन्हें एक गेंदबाज के रूप में ही चुना गया. इस बात का खुलासा श्रेयस गोपाल ने एक प्रतिष्ठित समाचार पत्र को दिए गये साक्षात्कार में किया.

बाद में क्रिकेट को चुना

Shreyas gopal

समाचार पत्र को दिए गये इंटरव्यू में श्रेयस गोपाल ने अपनी प्रतिभा को पहचानने के लिए राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) का शुक्रिया कहा. राहुल द्रविड़ की सलाह ने उनका जीवन बदल दिया. उन्होंने आगे बताया कि कई तरह के खेल खेलने में उन्हें मजा आता था. क्रिकेट के साथ ही बैडमिंटन, स्केटिंग और कराटे भी खेलते थे. एक दिन उनके माता-पिता ने कहा कि खेलने के साथ ही पढाई भी जरुरी है. ऐसे में गोपाल ने पढ़ाई के साथ क्रिकेट खेलना चुना.

श्रेयस जब 17 साल के थे तभी उन्हें भारत की अंडर 19 टीम के कैंप में चुन लिया गया था. इसके बाद से वो क्रिकेट को लेकर और संजीदा हो गये. जब उनसे पूछा गया कि क्या कारण है कि उन्हें भारतीय टीम में नहीं चुना गया. तब वो बोले कि अभी मुझमें शायद कमी होगी. जब मुझे मौका मिलेगा अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा.

संजू सैमसन को 15 साल से जानता हूं

sanju gopal

आईपीएल में आखिरी हैट्रिक लेने वाले श्रेयस गोपाल से जब पूछा गया कि नए कप्तान संजू सैमसन के नेतृत्व में खेलना कैसा अनुभव है. तब वो बोले कि संजू को मैं 15 सालों से जानता हूं और वो मेरे भाई जैसा है. मैं उसके साथ बहुत सहज महसूस करता हूं और अपनी रणनीति भी साझा करता हूं. वो हमेशा मनोबल बढ़ाता है.

संजू बहुत अच्छा कप्तान सिद्ध होगा. उसकी कप्तानी में हम दूसरी बार ख़िताब जीतने की कोशिश करेंगे. आपको बता दें कि विजय हजारे ट्रॉफी में 7 मैचों में श्रेयस गोपाल ने 13 विकेट अपने नाम किए थे. यही नहीं आईपीएल में 45 मैच खेले हैं जिनमें 7.85 की इकॉनमी से 48 विकेट उनके नाम दर्ज हैं.