ashes series
ashes series

भारतीय क्रिकेट टीम, ऑस्ट्रेलिया के साथ 4 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई थी। Border Gavaskar Series में दोनों टीमों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और भारतीय टीम इतिहास रचने में सफल रही। इस जीत ने ना केवल भारतीय इतिहास में स्वर्णिम इतिहास लिखा, बल्कि पूरे विश्व में अपने खेल का डंका बजा दिया। फैंस ने भी बॉर्डर-गावस्कर सीरीज को ‘Ultimate Test Series’ के रूप में चुना है, जिसे आईसीसी ने साझा किया है।

Border Gavaskar Series को चुना Ultimate Test Series

भारतीय क्रिकेट टीम और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के बीच खेली गई Border Gavaskar Series में भारत की ‘B’ टीम ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए ऑस्ट्रेलिया को उसके घर पर 2-1 से मात दी थी। इस सीरीज का रोमांच अलग ही स्तर का था और टेस्ट मैच में मानो आखिरी गेंद तक मैच के रिजल्ट का अंदाजा लगाना मुश्किल हो गया था। बेहद रोमांचक सीरीज को फैंस ने ‘Ultimate Test Series’ के रूप में चुना है।

दरअसल, आईसीसी ने अपने ट्विटर हैंडिल पर पोस्ट शेयर करते हुए इस बात की जानकारी देते हुए लिखा है कि, “# WTC- 21 फाइनल से पहले, हम #TheUltimateTestSeries का फैसला किया। हमारे सोशल चैनलों पर 15 हैड टू हैड और सात मिलियन से अधिक वोटों के बाद, 2020/21 बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी सीरीज विजेता रही।”

पहले मैच के बाद जीत लग रही थी असंभव

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए Border Gavaskar Series ट्रॉफी की शुरुआत बेहद निराशाजनक थी, क्योंकि पहले मैच की दूसरी पारी में पूरी भारतीय टीम 36 पर ऑलआउट हो गई थी। वहां से तो सीरीज जीतना असंभव ही दिख रहा था और कप्तान विराट कोहली भी पैतृक अवकाश के लिए भारत लौट आए थे।

लेकिन फिर जो हुआ वह इतिहास बन गया। मेलबर्न टेस्ट से अजिंक्य रहाणे ने टीम की कमान संभाली और उनकी शतकीय पारी के साथ टीम ने वापसी की और मेलबर्न टेस्ट को 8 विकेट से जीत लिया और सीरीज 1-1 से बराबर पर आ खड़ी हुई।

भारत ने गाबा में रचा इतिहास

Border Gavaskar Series

Border Gavaskar Series में 1-1 की बराबरी के साथ दोनों टीमें गाबा पहुंची। जहां, ऑस्ट्रेलिया का शानदार इतिहास था, क्योंकि 1988 के बाद से ऑस्ट्रेलिया में एक भी मैच नहीं गंवाया था। वहीं दूसरी ओर भारतीय खेमे में युवा खिलाड़ियों की भरमार थी, क्योंकि अनुभवी खिलाड़ी चोटिल थे।

गाबा में शुभमन गिल ने 91 रनों की लाजवाब पारी खेलकर जीत का बेस बनाया, जिसके बाद चेतेश्वर पुजारा के अहम योगदान के बाद ऋषभ पंत की 89* रनों की काबिल-ए-तारीफ पारी के साथ भारत ने मैच को 3 विकेट से जीता और सीरीज को अपने नाम कर लिया। सीरीज में भारत के युवा गेंदबाजों का भी अहम योगदान रहा, जिन्होंने गाबा में ऑस्ट्रेलिया की तूफानी बल्लेबाजी को रोका। इस मैच में पंत को मैन ऑफ द मैच के खिताब से सम्मानित किया गया। इस तरह भारत ने बैक टू बैक ऑस्ट्रेलिया को उसके घर पर टेस्ट सीरीज में मात दी।