New Zealand Cricket

जून में न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम और टीम इंडिया (NZ vs IND) के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला खेला जाने वाला है. यह मैच 18 से 22 जून के बीच इंग्लैंड के साउथम्प्टन के द रोज बॉल स्टेडियम में खेला जाएगा. लेकिन, इस मुकाबले से पहले ही दिग्गज टेस्ट विकेटकीपर और शानदार बल्लेबाज बीजे वाटलिंग (BJ Watling) ने की ओर से बड़ा बयान सामने आया है.

संन्यास को लेकर बीजे ने किया बड़ा ऐलान

bj watling

दरअसल भारत के खिलाफ खेले जाने वाले आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप से पहले ही वाटलिंग ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का निर्णय ले लिया है. लेकिन, इस रिटायमेंट की घोषणा वो टीम इंडिया के खिलाफ होने वाले टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मैच को खेलने बाद करेंगे.

हालांकि उन्होंने ये बात बीजे वाटलिंग (BJ Watling) ने ये बात जरूर स्पष्ट कर दी है कि, वो इस फाइनल मैच के बाद इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे. ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत और न्यूजीलैंड आइसीसी की तरफ से  आयोजित की जाने वाली टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचे हैं.

कई बड़ी उपलब्धियां हासिल कर चुके हैं वाटलिंग

WhatsApp Image 2021 05 12 at 5.26.06 AM

इस मुकाबले को जीतने के लिए दोनों ही टीमें दमखम झोंकती नजर आएंगी. बात करें वीजे की तो 35 साल के हो चुके वाटलिंग साल 2009 से ही न्यूजीलैंड (New zealand) की टेस्ट टीम का एक अहम हिस्सा रहे हैं. दिलचस्प बात तो यह है कि, टेस्ट फॉर्मेट में उन्होंने कई बड़े रिकॉर्ड भी अपने नाम किए हैं.

न्यूजीलैंड की तरफ से खेलते हुए विकेट के पीछे सबसे ज्यादा टेस्ट शिकार करने की उपलब्धि भी बीजे वाटलिंग (BJ Watling) के नाम दर्ज है. उन्होंने टेस्ट मैच में अब तक 249 कैच लिए हैं. इसमें से 10 उन्होंने बतौर फील्डर लिए थे.इसके साथ ही उन्होंने 8 स्टंपिंग भी की है. यहां तक कि न्यूजीलैंड की तरफ से बल्लेबाजी करते हुए टेस्ट में दोहरा शतक जड़ने वाले वो पहले और एक मात्र विकेटकीपर बल्लेबाज की उपलब्धि अपने नाम कर चुके हैं.

ऐसा रहा है बीजे का क्रिकेट करियर

WhatsApp Image 2021 05 12 at 5.26.21 AM

बीजे वाटलिंग (BJ Watling) ने अब तक क्रिकेट करियर में 28 वनडे और 5 टी20 मैच खेले हैं. वनडे में उनका उच्च स्कोर 96 रन का रहा है. इस फॉर्मट में उन्होंने कुल 573 रन बनाए हैं. 5 टी20 मैच में बीजे के बल्ले से सिर्फ 38 रन निकले हैं. इसके अलावा उन्होंने कुल 73 टेस्ट मैच खेले हैं. जिसमें 8 शतक के साथ कुल 3773 रन बनाए हैं. इसमें उनका बेस्ट स्कोर 205 रन का रहा है.