Bihar Cricket Association president accused in rape case

Bihar Cricket Association: क्रिकेट एक ऐसा खेल है जो कई बार संगीन अपराधों को लेकर भी चर्चा का विषय रहा है. दरअसल हाल ही में यह खेल एक बार फिर अपराध के घेरे में आया है. हमेशा सुर्ख़ियों में किसी ना किसी वजह से बने रहने वाले बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के प्रेजिडेंट पर एक युवती ने रेप और छेड़छाड़ करने की कोशिश का संगीन आरोप लगाया है. जिस युवती ने बीसीए (Bihar Cricket Association) के प्रेजिडेंट राकेश तिवारी पर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है, वो एक कंपनी में डायरेक्टर की पोस्ट पर काम करती है.

Bihar Cricket Association के प्रेजिडेंट पर रेप का आरोप

Rakesh Tiwari-BCA President

बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (Bihar Cricket Association) के अध्यक्ष राकेश तिवारी पर युवती ने यह आरोप लगाया है कि जब वह कंपनी के पेमेंट के सिलसिले में दिल्ली के एक होटल में उनसे मिलने के लिए पहुंची, तो इस दौरान उन्होंने युवती के साथ बलात्कार करने की कोशिश की थी.

इसी के साथ पीड़िता की कंप्लेंट पर संसद मार्ग थाना पुलिस (दिल्ली) ने मामला दर्ज कर लिया है. इतना ही नहीं बल्कि नई दिल्ली के ज़िला डीसीपी ने भी इस बात में हामी भरी है. उनके मुताबिक 7 मार्च को पुलिस स्टेशन में यह केस दर्ज किया गया है. केस की इन्वेस्टिगेशन के लिए पुलिस की एक स्पेशल टीम भी तैयार की गई है.

दर्ज की गई एफआईआर के मुताबिक, पीड़िता गुरुग्राम की रहने वाली है, जोकि 30 वर्षीय है. युवती स्पोर्ट्स मैनेजमेंट इवेंट ऑर्गेनाइजेशन और एडवर्टाइजमेंट कंपनी में काम करती है. उसने खुद ही थाने में जाकर इस मामले की शिकायत दर्ज कराई थी.

बदनामी के डर के कारण चुप थी पीड़िता

Bihar Cricket Association president accused in rape case

पीड़ित महिला के अनुसार, मार्च 2021 में बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (Bihar Cricket Association) द्वारा एक T20 टूर्नामेंट का आयोजन कराया गया था. जिसकी ऐडवर्टाइज़मेंट का काम युवती की कंपनी को सौंपा गया था. ग़ौरतलब है कि महिला की कंपनी को उनके काम की पेमेंट नहीं दी गई. जिसके बाद महिला किसी नोन (परिचित) के कहने पर दिल्ली के एक होटल में बिहार क्रिकेट एसोसिएशन के प्रेजिडेंट राकेश तिवारी से इस सिलसिले में मिलने के लिए गई.

जहां राकेश ने महिला के साथ बलात्कार करने की कोशिश की, पीड़िता के विरोध करने के बावजूद भी उसने एक ना सुनी. हालांकि किसी तरह महिला वहां से बच निकली. महिला इस पूरे हादसे के बाद काफी डर गई थी. बदनामी होने के कारण उसने यह बात किसी के साथ शेयर नहीं की. लेकिन इस बात को सोच-सोच कर उसका जीना मुश्किल हो गया था, जिसके चलते उसने निर्णय किया कि वह इस पूरे मामले का खुलासा पुलिस से करेगी और खुद को इंसाफ दिलवाएगी.