Kuldeep yadav-chahal

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही 3 वनडे मैचों की सीरीज का तीसरा मैच फिलहाल पुणे के मैदान पर खेला जा रहा है। अब तक खेले गए 2 मैचों में भारतीय क्रिकेट टीम को एक मैच में जीत मिली, वहीं एक मैच में इंग्लैंड की टीम ने बाजी मार ली। जारी सीरीज में भारतीय क्रिकेट टीम से बेहतरीन प्रदर्शन का नजारा देखने को मिला, वहीं कुछ खिलाड़ी अच्छा करने में फेल हुए। टीम इंडिया को इस सीरीज में छठे गेंदबाज की तलाश थी, उम्मीद थी कि यह तलाश क्रुनाल पंड्या के रूप में पूरी हो जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

अभी तक नहीं मिला 6वां गेंदबाजी विकल्प

WhatsApp Image 2021 03 24 at 5.56.50 AM 1

भारतीय क्रिकेट टीम ने जारी सीरीज के पहले मैच में क्रुनाल पंड्या को टीम में डेब्यू करने का मौका दिया। मैच के दौरान क्रुनाल ने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन जब गेंदबाजी की बारी आई तो उनकी गेंदबाजी से उतना अच्छा प्रदर्शन का नजारा देखने को नहीं मिला। क्रुनाल पंड्या फिलहाल टीम में एक स्पेशलिस्ट गेंदबाज के तौर पर शामिल हैं।

क्रुनाल से पहले भारतीय क्रिकेट टीम मे केदार जाधव हुआ करते थे, जो कि टीम के लिए गेंदबाजी के वक्त 4-5 ओवर बेहतरीन गेंदबाजी करते थे। वहीं केदार जाधव से पहले सुरेश रैना भारतीय क्रिकेट टीम के लिए बेहतरीन पार्ट टाइम गेंदबाजी करते थे। लेकिन फिलहाल कोई ऐसा विकल्प मौजूद नहीं है।

हार्दिक पंड्या का गेंदबाजी नहीं करना बन रही चुनौती

India Team

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 6वें गेंदबाज की समस्या इस वजह से भी बनी हुई है क्योंकि टीम इंडिया के स्टार क्रिकेटर हार्दिक पंड्या गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं। हार्दिक पंड्या को जब से बैक इंजरी हुई और हार्दिक ने उसकी सर्जरी करवाई तब से वह गेंदबाजी काफी कम कर रहे हैं। आईपीएल में भी हार्दिक से गेंदबाजी देखने को नहीं मिली थी।

हालांकि हार्दिक पंड्या ने टी-20 फॉर्मेट में गेंदबाजी शुरू कर दी, लेकिन वनडे सीरीज में उनसे विराट कोहली ने गेंदबाजी नहीं करवाई। इसकी वजह से वह एक बल्लेबाज के तौर पर खेल रहें हैं।

कैसे पूरी हो सकती है 6वें गेंदबाज की कमी

Players

भारतीय क्रिकेट टीम के लिए छठवें गेंदबाज की भूमिका निभाने के लिए उपलब्ध विकल्पों की बात करें तो टीम को वाशिंगटन सुंदर उपलब्ध हैं, जो की ना सिर्फ बेहतर बल्लेबाजी करने में सक्षम हैं बल्कि वह बेहतरीन गेंदबाजी भी कर सकते हैं। टीम इंडिया के अन्य बल्लेबाजों की बात करें तो टीम में अन्य कोई खिलाड़ी गेंदबाजी करने में सक्षम हो।