Bhuvneshwar Kumar
Bhuvneshwar Kumar

भारत और पाकिस्तान के मैच में हमेशा कांटे की टक्कर देखने को मिलती है. रविवार को (IND vs PAK) खेले गए मुकाबले में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला. भारत ने टॉस जीतकर पहले पाकिस्तान को बल्लेबाजी न्यौता दिया. पाकिस्तान की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने जीत के लिए 148 रनों का लक्ष्य रखा,

लेकिन, भारत ने हार्दिक की विस्फोटक पारी के दमपर यह मुकाबला 2 गेंद शेष रहते ही जीत लिया. वहीं इस मैच के बाद भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने प्रेस कांफ्रेस के में बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि टीम इंडिया के एक खिलाड़ी को लेकर काफी दुआ कर रहे थे. चलिए जानते हैं कौन है वो खिलाड़ी ने टीम इंडिया को जीत दिलाई?

Bhuvneshwar Kumar ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया खुलासा

Bhuvneshwar Kumar
Bhuvneshwar Kumar

भारत और पाकिस्तान (IND vs PAK) के बीच खेले गए महामुकाबले में टीम इंडिया ने 5 विकेट से शानदार जीत हासिल की, लेकिन इस मैच में कई बार ऐसे भी पल जब ऐसा लग रहा था कि मैच किसी भी तरफ जा सकता है, क्योंकि पाकिस्तानी गेंदबाजों ने अंतिम गेंद तक भारतीय बल्लेबाजों को फंसा कर रखा. मगर हार्दिक ने अंतिम ओवर में नवाज की चौथी गेंद पर विनिंग शॉट लगातर मैच जिता दिया. वहीं पाक टीम के खिलाफ 4 विकेट चटकाने वाल भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा करते हुए कहा,

“10 ओवर के बाद, मैच काफी टाइट हो गया। ऐसी स्थिति में खेल किसी भी तरफ जा सकता था, लेकिन हार्दिक और जडेजा ने जिस तरह से बल्लेबाजी की, उन्होंने क्रीज पर अपना शानदार जलवा बिखेरा. मैं बस प्रार्थना कर रहा था, कि हार्दिक अपने प्रदर्शन के साथ इसी तरह जारी रहें और टी20 विश्व कप में भी इसी फॉर्म में रहें.”

बाबर को आउट करने पर भुवी ने कही ये बात

Bhuvneshwar Kumar IND vs SA 5th T20

पाकिस्तान की टीम बैटिंग के मामले में अभी कप्तान बाबर आजम पर पूरी तरह से निर्भर रहती है. अगर बाबर आजम बिना बड़ी पारी खेले जल्दी आउट हो जाए तो बाद के बल्लेबाज कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाते हैं. ऐसा ही कुछ रविवार को खेले गए मुकाबले में देखने को मिला. भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) तीसरे ओवर में पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम को चलता किया जिसके बाद उनका कोई भी बल्लेबाज नहीं चल पाया. जिस भुवी ने अपनी बात रखते हुए कहा,

“एक बार बाबर के आउट होने के बाद हमने नहीं सोचा था कि पाकिस्तान की आधी टीम जल्दी सिमट जाएगी. वह एक अच्छे खिलाड़ी हैं, लेकिन तकनीकी रूप से नौ अन्य बल्लेबाज अभी भी खेलने को बाकी थे. एक बार जब वह आउट हो गए, तो हमें पता था कि उनकी योजनाओं में गड़बड़ी होगी क्योंकि सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाने वाला बल्लेबाज चला गया था.”