bhuvneshwar kumar father death

कोरोना महामारी के बीच अब तक क्रिकेट जगत के कई खिलाड़ियों पर दुखों का पहाड़ टूटा है. कुछ दिन पहले की ही बात है, जब राजस्थान रॉयल्स के युवा तेज गेंदबाज चेतन सकारिया के पिता का निधन हो गया था. इसी बीच टीम इंडिया के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार (bhuvneshwar kumar) के घर शोक की लहर दौड़ गई है. इस संकट भरे हाला में क्रिकेटर के ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है.

भारतीय गेंदबाज के घर दौड़ी शोक की लहर

bhuvneshwar kumar

दरअसल भारतीय गेंदबाज भुवनेश्वर (bhuvneshwar kumar fateher death) कुमार के पिता ने हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कह दिया है. बताया जा रहा है कि, गुरूवार को उनके पिता ने आखिरी सांस ली. इस खबर के सामने आने के बाद पूरे परिवार में मातम का माहौल है. उनके पिता का निधन गंगानगर सी- पॉकेट आवास पर हुआ है.

जानकारी के मुताबिक भूवी के पिता पुलिस विभाग में कार्यरत थे. लेकिन नौकरी के दौरान उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति (वीआरएस) ले ली थी. पुलिस विभाग में ड्यूटी के समय उन्हें मेरठ और मुजफ्फरनगर में पोस्टिंग मिली थी.  हालांकि स्थानीय रूप से वो बुलंदशहर के थे. लेकिन, 63 साल की उम्र में उनका निधन हो गया है. जो परिवार के लिए बड़ा झटका है.

भूवी के पिता का हुआ निधन

WhatsApp Image 2021 05 20 at 1.57.19 PM

सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी की माने तो भुवनेश्वर कुमार (bhuvneshwar kumar) के पिता किरनपाल सिंह लीवर की गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे. इलाज के दौरान डॉक्टरों ने जवाब दे दिया था. इसके बाद परिवार वाले उन्हें गंगानगर वाले घर में ले गए थे. यहां बीते कई महीनों से रहते हुए वो लगातार दिल्ली के एम्स और नोएडा के एक अस्पताल से इलाज करवा रहे थे.

खबरें तो ऐसी भी आ रही हैं कि, दिवंगत किरनपाल सिंह का इलाज इंग्लैंड के डॉक्टरों के निर्देश के मुताबिक चल रहा था. लेकिन, इस बीमारी से वो उबर नहीं सके और गुरूवार को उन्होंने अंतिम सांस ली. हालांकि कहा तो यह भी जा रहा है कि, दिल्ली और नोएडा से चली रही उनकी कीमो थेरेपी पूरी हो गई थी और वो खुद को पहले से स्वस्थ महसूस कर रहे थे.

लीवर की समस्या से जूझ रहे थे क्रिकेटर के पिता, डॉक्टरों ने दे दिया था जवाब

WhatsApp Image 2021 05 20 at 1.57.25 PM

लेकिन, बीते दो हफ्ते पहले ही एक बार फिर से अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई थी. जिसके बाद उन्हें गंगानगर के पास ही एक अस्पताल में एडमिट कराया गया था. स्वास्थ्य में थोड़ा सुधार आने के बाद उन्हें मुजफ्फरनगर के मसूरी अस्पताल में शिफ्ट कराया गया.

लेकिन, लीवर की समस्या के साथ ही पीलिया समेत और कई बीमारी होने की वजह से डॉक्टरों ने जवाब दे दिया था. डॉक्टरों की तरफ से जवाब दिए जाने के बाद भुवनेश्वर कुमार (bhuvneshwar kumar) और उनकी मां इंद्रेश देवी, बहन रेखा घर पर ही पिता की देखभाल कर रही थीं.