Ben Stokes ENG vs IND Test - Interview

ENG vs IND: बेन स्टोक्स (Ben Stokes) की अगुवाई में इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट टीम इतिहास में एक नया अध्याय लिखने चली है। जिसकी शुरुआत उन्होंने हाल ही में न्यूज़ीलैंड का सूपड़ा साफ कर सीरीज जीतने से की थी। साथ ही अब इस टीम ने भारत के खिलाफ आक्रमक अंदाज में 5वां टेस्ट जीतकर खले के लंबे प्रारूप को नए ढंग से खेलने की परिभाषा गढ़ दी है।

एजबेस्टन में खेले गए इंग्लैंड बनाम भारत टेस्ट मैच में मेजबान टीम ने टीम इंडिया के खिलाफ इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर 378 रन आखिरी दिन के 2 सेशन शेष रहते ही हासिल कर लिया। इस जीत पर इंग्लिश कप्तान बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

ENG ने भारत पर दर्ज की ऐतिहासिक टेस्ट जीत

James Anderson, Joe Root, Ben Stokes, Jonny Bairstow and Ollie Pope with the Pataudi Trophy after England's win, England vs India, 5th Test, Birmingham, 5th day, July 5, 2022

इंग्लैंड और भारत के बीच पिछले साल शुरू हुई पटौदी ट्रॉफी का आखिरी स्थगित किया गया टेस्ट मैच कई मायनों में ऐतिहासिक रहा है। इस मैच में लगभग 4 दिनों तक टीम इंडिया हावी होती नजर आ रही थी, लेकिन चौथे दिन का खेल खत्म होते होते इंग्लैंड ने अपनी नई बैज-बाल थ्योरी का परिचय दिया। जिसमें भारतीय गेंदबाज टिक नहीं पाए।

टेस्ट क्रिकेट में इस प्रकार की आक्रमकता पहले कभी देखने को नहीं मिली है। खासकर भारत जैसे मजबूत गेंदबाजी क्रम के आगे इंग्लिश बल्लेबाजों ने 378 रनों का लक्ष्य भी बौना बना दिया और आखिरी दिन सिर्फ 90 मिनट के खेल में मुकाबले को अंजाम तक पहुंचा दिया। ये भारत के खिलाफ टेस्ट फॉर्मेट में हासिल किया गया सबसे बड़ा लक्ष्य है।

“हम टेस्ट क्रिकेट में एक नया अध्याय लिखने की कोशिश में है” – Ben Stokes

Ben Stokes England test Captain

खेल के लंबे प्ररूप में इंग्लैंड के इस बदलते रवैया का सबसे बड़ा श्रेय कोच और कप्तान की नई जोड़ी को दिया जा रहा है। न्यूज़ीलैंड के पूर्व विस्फोटक् बल्लेबाज ब्रेंडन मैकुलम और बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने इंग्लैंड को टेस्ट फॉर्मेट में एक नए युग की शुरुआत करने का दावा भर दिया है। भारत के खिलाफ मैच में जीत के बाद उन्हें इसका बखान करते हुए भी सुना गया। बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने कहा,

जब खिलाड़ी इस तरह खेलते हैं तो मेरा काम आसान हो जाता है। 378 का लक्ष्य पांच हफ्ते पहले डरावना होता, लेकिन अब यह हमारे लिए सामान्य है। जॉनी और रूट को इसका पूरा श्रेय मिलेगा, लेकिन बुमराह और शमी के खिलाफ नई गेंद से सलामी बल्लेबाजों ने भी शानदार खेल दिखाया। कभी-कभी, टीमें हमसे बेहतर होंगी, लेकिन हमसे बहादुर कोई नहीं है,

हम टेस्ट क्रिकेट में एक नया अध्याय लिखने की कोशिश में है। पिछले चार-पांच हफ्तों से हमारी सभी योजनाएं वही हैं जिन्हें हम आगे ले जाना चाहते हैं। । हम टेस्ट क्रिकेट को कुछ नया जीवन देना चाहते हैं, हमें जो समर्थन मिला है, वह कम समय में शानदार रहा है, हम अगली पीढ़ी को प्रेरित करना चाहते हैं।