kkr

एक युवा भारतीय खिलाड़ी ने आईपीएल में वो कारनामा कर दिखाया, जिसे युवराज, धोनी, रैना, सहवाग जैसे धाकड़ बल्लेबाज नहीं कर पाए थे. वह युवा बल्लेबाज आईपीएल में शतक लगाने वाला पहला भारतीय बना, जिसका नाम है मनीष पांडे. मनीष का आज बर्थडे है. इस खिलाड़ी ने जिस प्रकार का प्रदर्शन आईपीएल में दिखाया वो काबिले तारीफ था, लेकिन इसके बाद भी उनका जलवा भारतीय टीम में नजर नहीं आया.

2009 आईपीएल में मनीष पांडे का शतक 

मनीष पांडे

आईपीएल में भारतीय टीम की तरफ से शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी विराट, धोनी, या युवराज नहीं बल्कि मनीष पांडे हैं. आईपीएल 2009 में उन्होंने बंगलौर की टीम की तरफ से उन्होंने डेक्कन चार्जर्स के विरुद्ध शानदार शतक जड़ा और 114 रन की नाबाद पारी खेली थी.

इस शतक के साथ ही वे आईपीएल में सेंचुरी ठोकने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बन गए. इसके बाद वे पुणे वारियर्स, कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए खेले. 2018 में उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद में 11 करोड़ में खरीदा और वे टीम के सबसे महंगे खिलाड़ी बने.

आईपीएल में शतक लगाने के 6 साल बाद खेला पहला एकदिवसीय मुकाबला

आईपीएल

घरेलु क्रिकेट में मनीष पांडे कर्नाटक टीम की तरफ से खेलते है. 2009 में आईपीएल में शानदार शतक लगाने के बाद 2015 में कुल 6 साल बाद उन्होंने जिम्बाब्वे के खिलाफ हरारे में अपना पहला वनडे मुकाबला खेला था.

बात अगर इनके वनडे करियर की हो तो इन्होने अभी तक 23 मैच खेले हैं, जिसमे इन्होने 36.66 के औसत से और 91.85 के स्ट्राइक रेट से 440 रन बनाए हैं. इसमें दो शतक और दो अर्धशतक शामिल हैं.

इसके अलावा उन्होंने 120 आईपीएल पारियां खेली हैं, जिसमे उन्होंने 29.31 के औसत से और 120.82 के स्ट्राइक रेट से 2843 रन बनाए हैं. इसमें 15 अर्धशतक और 1 शतक शामिल है.

भारतीय टीम में अब मिल रही जगह

25Manish Pandey 1

मनीष पांडे को अभी भारतीय टीम ए की कप्तानी सौपी गयी है. इसके बाद उन्होंने इस सीरीज में टी20 मुकाबला भी खेला, जिसमे उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा. इसके बाद भी वनडे के उनके प्रदर्शन के कारण चयनकर्ताओं ने दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ उनको एक बार और खुद को साबित करने का मौका दिया है.

Leave a comment

Your email address will not be published.