IPL 2021

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13 सीजन खेले जा चुके हैं, चौदहवां सीजन दो टुकड़ों में खेला जा रहा है। अगला सीजन 2022 में खेला जाएगा। जिसमें दो नई टीमों को शामिल किया जाएगा। बीसीसीआई  (BCCI) को आईपीएल 2022 में दो नई फ्रेंचाइजी के शामिल होने के बाद कथित तौर पर 5000 करोड़ रुपयों की आय होने की उम्मीद है। दुनिया की सबसे बड़ी टी20 क्रिकेट लीग के 15वें संस्करण में अब 10 टीमें हिस्सा लेंगी। जिन नई टीमों को पेश किया जाएगा, उनका बेस प्राइस 2000 करोड़ रुपये रखा गया है।

75 करोड़ में मिलेगा बोली लगाने वाले दस्तावेज

IPL 2021 BCCI

IPL 2022 में शामिल होने वाली दो नई टीमों के बारे में बताते हुए एक सीनियर बीसीसीआई अधिकारी का कहना है कि,

“कोई भी कंपनी 75 करोड़ रुपये का भुगतान करके बोली दस्तावेज खरीद सकती है। पहले शीर्ष अधिकारी दो नई टीमों का आधार मूल्य 1700 करोड़ रूपए रखने के बारे में सोच रहे थे, लेकिन बाद में आधार मूल्य 2000 करोड़ रखने का फैसला किया गया।”

स्रोत को IPL के वित्तीय पहलुओं से निपटने का पूर्व अनुभव है। उनका मानना ​​है कि टीमों की संख्या में वृद्धि से दर्शकों में भी बढ़ोत्तरी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि,

“बीसीसीआई अधिक नहीं तो 5000 करोड़ के दायरे में फायदे की उम्मीद कर रहा है। अगले सीजन में 74 आईपीएल मैच होंगे और यह सभी के लिए फायदे की स्थिति है।”

3000 करोड़ के वार्षिक आय वाली कम्पनियां ही ले सकेंगी हिस्सा

IPL

बीसीसीआई को आगामी IPL के सीजन में ज्यादा राजस्व की उम्मीद है। इसके लिए वो मैदानों पर ज्यादा ध्यान है। इस सिलसिले में अहमदाबाद, लखनऊ और पुणे सबसे आगे हैं। लेकिन, अहमदाबाद में हाल ही में उद्घाटन किया गया नरेंद्र मोदी स्टेडियम भीड़ की क्षमता को देखते हुए राजस्व का एक प्रमुख स्रोत हो सकता है।

साथ ही बीसीसीआई एक टीम के लिए बोली लगाने के लिए कंसोर्टियम (दो या अधिक समूहों) को अनुमति देने के विकल्प पर विचार कर रहा है। साथ ही यह नियम भी रखा गया है कि केवल 3000 करोड़ रुपये के वार्षिक कारोबार वाली कंपनियां ही बोली में भाग ले सकती हैं।

IPL 2022 में नई टीमों के संभावित खरीदार

1. अदानी समूह
2. आरपीजी संजीव गोयनका ग्रुप
3. टोरेंट (फार्मास्युटिकल कंपनी)