Virat Kohli-Rohit Sharma

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) टी20 वर्ल्डकप को देखते हुए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. आईसीसी ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 के लिए शेड्यूल की घोषणा कर चुकी है. यह टूर्नामेंट 16 अक्टूबर से 13 नवंबर के बीच खेला जाएगा. जिसके लिए भारतीय टीम लगातार टी20 सीरीज खेल रही है. बीसीसीआई इन सब टी20 सीरीजों को टी20 वर्ल्ड कप की चुनौती के रूप में ले रहा है. जिससे खिलाड़ियों की तैयारी भी हो सके.

BCCI ने खिलाड़ियों का बढ़ाया वर्कलोड

BCCI Apex council meeting to decide on resumption of CK Nayudu trophy womens T20

भारतीय टीम लगातार टी20 सीरीज खेल रही है. हाल ही में वेस्टइंडीज को टी20 और वनडे में हराया है. इसके बाद भारत को श्रीलंका के साथ 24 फरवरी को तीन मैचों की टी20 सीरीज खेलनी है.  इन सब टी20 सीरीजों को आगामी वर्ल्ड कप 2022 से जोड़ कर देखा जा रहा है. भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) टी20 वर्ल्ड कप जीतने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहता है.

बीसीसीआई ने खास प्लान तैयार किया है, जुलाई में टीम के इंग्लैंड दौरे और टी20 वर्ल्ड कप के शुरू होने के पहले कुछ और सीरीज शेड्यूल तैयार कर रहा है. इस समय में टीम इंडिया तीन और सीमित ओवर सीरीज खेलेगी जो कि फिलहाल उसके एफटीफी का हिस्सा नहीं है. श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद से वर्ल्ड कप तक टीम इंडिया का शेड्यूल काफी व्यस्त रहने वाला है.

टी20 वर्ल्ड कप से पहले इन टीमों के साथ भिड़ेगी टीम इंडिया

Team India

वर्ल्ड कप 2022 के लिए शेड्यूल की घोषणा कर चुकी है. सभी टीमें वर्ल्ड कप जीतने के लिए किसी ना किसी टीम के साथ क्रिकेट खेल रही है. वहीं अगर भारत की बात करें तो, भारत लगातार टी20 सारीज खेल रहा है. बीसीसीआई भी चाहता कि भारत ज्यादा से ज्यादा टी20 सारीज खेले जिससे उनकी वर्ल्ड कप 2022 की तैयारी हो सके. भारत ने वेस्टइंडीज के बाद श्रीलंका के साथ टी20 सीरीज खेलनी हैं. श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के बाद टीम के खिलाड़ी आईपीएल खेलेंगे जो कि मई महीने के आखिरी हफ्ते तक चलेगा.

वहीं इसके बाद साउथ अफ्रीका की टीम भारत का दौरा करेगी और दोनों टीमों के 19 जून से 19 मैचों की टी20 सीरीज खेली जाएगी. इस सीरीज के बाद भारत, इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो जाएगी. भारतीय टीम को आयरलैंड के खिलाफ एक टी20 और इंग्लैंड के किलाफ टेस्ट मैच एक ही समय पर खेलना है. ऐसे में खिलाड़ियों का एक बड़ा पूल तैयार किया जा रहा है ताकि बायोबबल का ज्यादा असर खिलाड़ियों के मानसिक स्वास्थ्य पर ना हो.