BCCI

भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम को अगले महीने इंग्लैंड दौरे पर जाना है। जहां, टीम को पहले आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच खेलना है और फिर 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। वहीं भारतीय महिला क्रिकेट टीम को भी अगले महीने इंग्लैंड पहुंचना है और 1 टेस्ट मैच और फिर लिमिटेड ओवर सीरीज खेलनी है। इस बीच BCCI पर दोनों टीमों के बीच पक्षपात करने के आरोप लगाए जा रहे थे, जिसके बाद अब दोनों महिला कप्तानों ने सामने आकर खुलासा किया है।

क्या है मामला?

BCCI

भारत की महिला व पुरुष दोनों ही टीमों को अगले महीने इंग्लैंड दौरे पर जाना है। इस बीच लगातार भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) पर आरोप लगाया जा रहा था कि वह दोनों टीमों के बीच पक्षपात कर रहा है।

एक ओर बोर्ड ने पुरुष टीम के लिए चार्टर प्लेन की व्यवस्था की है, तो वहीं महिला क्रिकेट टीम के खिलाड़ियों को कॉमर्शियल फ्लाइट लेने को कहा है। वहीं ये भी कहा जा रहा था कि एक ओर पुरुष टीम के आरटी पीसीआर टेस्ट घर पर हो रहे हैं, जबकि महिला खिलाड़ियों को खुद टेस्ट कराने को कहा गया है।

लेकिन अब भारतीय महिला क्रिकेट टीम के टेस्ट व वनडे कप्तान मिताली राज ने सामने आकर खुलासा किया है कि BCCI महिला व पुरुष टीम के बीच कोई पक्षपात नहीं कर रही है।

मिताली राज ने BCCI का सपोर्ट

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) पर लग रहे आरोपों को भारत की टेस्ट व वनडे कप्तान मिताली राज ने अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। दरअसल, उन्होंने ये साफ किया कि पुरुष टीम की ही तरह महिला टीम के भी आरटी पीसीआर टेस्ट घर पर ही हो रहे हैं।

उन्होंने लिखा- “महिला टीम का घर पर नियमित आरटी पीसीआर टेस्‍ट हो रहा है. दोनों टीमें मुंबई से अगले महीने इंग्‍लैंड के लिए उड़ान भरेंगी और कुछ समय के लिए क्‍वांरटीन रहेगी। भारतीय पुरुष टीम 26 मई को मुंबई आएगी और इसके बाद 8 दिन यहीं पर क्‍वारंटीन रहेगी।”

साथ में उड़ान भरेंगी दोनों टीमें

महिला टी20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने ट्वीट करते हुए इस बात का खुलासा किया है कि महिला व पुरुष दोनों ही टीमें एक साथ चार्टर प्लेन से इंग्लैंड के लिए उड़ान भरेंगी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा- “हरमनप्रीत ने ट्वीट किया कि बीसीसीआई ने पुरुष और महिला दोनों क्रिकेटर्स के लिए ब्रिटेन रवाना होने से पहले मुंबई के लिए चार्टर्ड फ्लाइट की व्‍यवस्‍था की है। दूरी और व्‍यक्तिगत सुविधा पर विचार करते हुए खिलाड़ियों ने अपनी पसंद चुनी।”