Ajinkya-Rahane-Rohit-Sharma-and-Virat-Kohli

विराट कोहली (Virat Kohli) ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मिली हार के बाद अचानक से टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने की घोषणा कर सभी को चौका कर रख दिया. उनके इस फैसले ने BCCI को भी चिंता में डाल दिया है. विराट (Virat Kohli) ने कुछ दी पहले टी20 की कप्तानी छोड़ दी थी. उसके बाद साउथ अफ्रीका दौरे से पहले बोर्ड ने उनसे वनडे की भी कप्तानी वापस लेकर रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को इसकी जिम्मेदारी सौंप दी थी. और अब बोर्ड को टेस्ट टीम के लिए भी एक नया कप्तान ढूँढना पड़ेगा.

अपने पुराने रास्ते पर चल सकती है बीसीसीआई

Virat Kohli

विराट (Virat Kohli)  की टेस्ट में कप्तानी छोड़ने के बाद बीसीसीआई के पास कप्तान बनाने के लिए सबसे पहला विकल्प रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) जैसे अनुभवी खिलाड़ी है. लेकिन दोनों ही खिलाड़ी अब काफी उम्रदराज हो चुके हैं. ऊपर से रोहित शर्मा ज्यादा समय फिटनेस की समस्या से जूझते रहते हैं. वहीं रहाने का खराब फॉर्म तो जगजाहिर है.

दूसरा विकल्प केएल राहुल (KL Rahul), ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) जैसे युवा खिलाड़ियों के साथ जाने का विकल्प हैं. जिन्हें ना चुनने के भी उतने ही तर्क हैं, जितने चुनने के. ऐसे में संभव है बोर्ड अपने उस पुराने रास्ते पर चलना पसंद करें, जिस पर 2007 में चल चुका है. दरअसल यह रास्ता केयरटेकर कैप्टन चुनने का है.

14 साल पहले हो चुका है ऐसा

Virat Kohli

विराट (Virat Kohli) की टेस्ट की कप्तानी छोड़ने के बाद अभी बीसीसीआई के सामने जो दुविधा पैदा हुई है, ऐसा ही कुछ आज से 14 साल पहले भी हुआ था. जब टीम के कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने अचानक से कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था. गले कप्तान के तौर पर कई नाम सामने आए. वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, जहीर खान, हरभजन सिंह जैसे खिलाड़ी टीम के नियमित सदस्य थे और अनुभवी भी. लेकिन बोर्ड ने इनमें से किसी को कप्तान नहीं चुना.

उसने पहले एमएस धोनी (MS Dhoni) को टी20 और वनडे टीम के लिए कप्तान बनाकर सबको चौंकाया. फिर स्प्लिट कैप्टेंसी की ओर आगे बढ़कर अनिल कुंबले (Anil Kumble) को टेस्ट टीम का कप्तान बना दिया. यह पहला मौका था जब बीसीसीआई ने अलग-अलग फॉर्मेट के कप्तान चुने.

अनिल कुंबले (Anil Kumble) को जब कप्तान बनाया गया तब वे 37 बरस के हो चुके थे. सबको पता था कि यह शॉर्ट टर्म फैसला था, जो मास्टरक्लास साबित हुआ. एमएस धोनी को उम्मीद के मुताबिक अनिल कुंबले का नायब बनाया गया. कुंबले 11 महीने कप्तान रहे और 14 टेस्ट मैचों में कप्तानी की. इसके बाद उन्होंने संन्यास ले लिया और धोनी को टेस्ट टीम की कमान भी मिल गई.

केयरटेकर कैप्टन बन सकते हैं रोहित शर्मा

Virat Kohli

विराट (Virat Kohli) के बाद  के बाद रोहित शर्मा (Rohit Sharma) के अनुभव को देखते हुए उन्हें ही टेस्ट टीम का भी अगला कप्तान बनाया जा सकता है. इस समय टेस्ट टीम की कप्तानी के दो स्वाभाविक दावेदार रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे हैं. रोहित 35 साल के होने वाले हैं और हर साल फिटनेस की वजह से किसी ना किसी सीरीज से बाहर रहे हैं.

लेकिन रहाणे के खिलाफ उनका पलड़ा भारी है. इसकी वजह यह भी है कि वे वनडे और टी20 टीम के कप्तान हैं. अजिंक्य रहाणे तकरीबन 34 साल के हैं और प्लेइंग XI में जगह बनाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं.