ranji trophy

BCCI ने रणजी ट्रॉफी कराने के लिए योजना बना रहा है. क्योंकि कोरोना के तीसरे वैरिएंट ओमिक्रॉन ने भारत ने दस्तक दे दी है. भारत में में इस समय घरेलू क्रिकेट कराने के हालात ठीक नहीं है. इस बार जनवरी में रणजी ट्रॉफी का सत्र शुरू होना था, लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इसे अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करना पड़ा. जिसके चलते BCCI ने रणजी ट्रॉफी कराने के लिए राज्य ईकाइयों से समय मांगा था. वही बीसीसीआई दोबारा रणजी ट्रॉफी कराने  की योजना बना रहा हैं.

दो चरणों में खेली जाएगी रणजी ट्रॉफी

Ranji Trophy

कोरोना की तीसरी लहर से रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) को स्थगित करना पड़ा था. बीसीसीआई दोबारा रणजी ट्रॉफी कराने प्लानिंग तैयार की है. मीडिया रिपोर्ट को अनुसार रणजी ट्रॉफी फिर से शुरू होगी ऐसा कहा जा रहा है. बीसीसीआई चाहती है कि आईपीएल से पहले लीग फेज का समापन हो जाएगा और फिर बाद में टूर्नामेंट के नॉकआउट मैच खेले जाएं. दोनों टूर्नामेंट एकसाथ नहीं खेले जा सकते, क्योंकि अंपायर से लेकर कमेंटेटर्स और खिलाड़ी दोनों जगह लगभग एक जैसे होते हैं.

मीडिया रिपोर्ट को अनुसार BCCI अधिकारी कोविड की स्थिति नियंत्रण में रहे तो हम उत्सुक हैं. रणजी ट्रॉफी के आयोजन के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं. अगर हम 10 फरवरी तक रणजी ट्रॉफी शुरू करते हैं तो हम आईपीएल से काफी पहले एक महीने में लीग चरण पूरा कर सकते हैं. आईपीएल 2022 के बाद रणजी ट्रॉफी के नॉकआउट मैच खेले जा सकते हैं.

रणजी ट्रॉफी से पहले कोरोना का शिकार चुके हैं खिलाड़ी

300195.4

13 जनवरी से शुरू होने वाली रणजी ट्रॉफी में बंगाल टीम के 6 खिलाड़ी और एक सहायक कोच कोरोना संक्रमित पाए गए थे. इसके अलावा मुंबई में स्थित BCCI का कार्यालय भी कोरोना की चपेट में आ चुका है. जिसमें कई स्टाप कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. जिसके लिए BCCI का दफ्तर तीन दिन के लिए बंद रहा था.

टीम के ऑलराउंडर खिलाड़ी शिवम दुबे की भी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. कोरोना के केस आने के बाद बंगाल और मुंबई टीम के बीच होने वाला अभ्यास मैच भी रद्द कर दिया गया है. हालांकि ये घरेलू क्रिकेटर्स के लिए बड़ा झटका लगा था, लेकिन खिलाड़ियों को लिए राहत की बात यह की बीसीसीआई दोबारा रणजी ट्रॉफी कराने प्लानिंग तैयार की है.