अजहरुद्दीन

क्रिकेट और बॉलीवुड का रिश्ता काफी पुराना रहा है। तमाम खिलाड़ियों ने बॉलीवुड अभिनेत्रियों से शादी की। ये लिस्ट वक्त के साथ लंबी होती जा रही है। इसमें से एक जोड़ी है भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान अजहरुद्दीन व पूर्व मिस इंडिया संगीता बिजलानी की। तो आइए आज अजहरुद्दीन के निजी व क्रिकेटिंग लाइफ से जुड़ी खास बातें बताते हैं।

पहली शादी तोड़ संगीता बिजलानी से की थी शादी

अजहरुद्दीन

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान मोहम्मद अहजरुद्दीन की अपने जमाने में महिलाओं के बीच काफी फैन फॉलोइंग थी। वैसे तो अजहर की पहली शादी साल 1987 में नौरीन खान के साथ हुई थी। जिनसे उनके दो बेटे हुए। लेकिन ये शादी ज्यादा वक्त तक चल नहीं सकी और अजहरुद्दीन ने 9  साल बाद पहली पत्नी नौरीन से तलाक ले लिया।

इसके बाद उनका दिल धड़का बॉलीवुड अभिनेत्री संगीता बिजलानी के लिए। उन दिनों दोनों ने एक-दूसरे को डेट किया और फिर परिवार के लाख मना करने पर भी अजहरुद्दीन ने बॉलीवुड एक्ट्रेस के साथ 1996 में शादी कर ली। पूर्व कप्तान और अदाकारा की शादी 14 साल चली और फिर 2010 में दोनों ने अलग होने का फैसला किया। हालांकि इसके बाद अजहरुद्दीन की तीसरी शादी की खबरों ने भी खूब सुर्खियां बटोरीं थी, लेकिन पूर्व खिलाड़ी खुद इस बात को साफ किया था कि उनकी तीसरी शादी की खबर पूरी तरह से झूठी है।

छोटे बेटे की मौत ने हिला दिया था

2010 में संगीता बिजलानी से अलग होने के बाद पहले ही अजहरुद्दीन की जिंदगी में अकेलापन था। तभी 2011 में उनके छोटे बेटे अयाज की एक रोड एक्सीडेंट में मौत हो गई थी। अयाज को बाइक रेसिंग का बहुत शौक था, लेकिन एक हादसे में जब उनकी मौत हुई, तो पिता अजहरुद्दीन काफी टूट गए थे। हालांकि वक्त के साथ उन्होंने खुद को संभाल लिया।

पिछले साल अजहरुद्दीन के बड़े बेटे असद का निकाह सानिया मिर्जा की बहन अनम से हुआ है। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियों में रही थीं।

स्पॉट फिक्सिंग ने खत्म कर दिया क्रिकेट करियर

अजहरुद्दीन

अजहरुद्दीन का क्रिकेट करियर शुरुआत जिस अंदाज से हुआ था, खत्म उस तरह नहीं हो सका। साल 2000 में भारतीय क्रिकेट को स्पॉट फिक्सिंग के दीमक ने जकड़ लिया। कई खिलाड़ियों के नाम उछाले गए, लेकिन इस मामले पर मोहम्मद अजहरुद्दीन पर मैच फिक्सिंग का आरोप लगा था, जिसे सही माना गया और उनपर जिंदगी भर क्रिकेट से बैन कर दिया गया।

हालांकि, 2012 में आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने उन पर लगे लाइफ टाइम बैन को खारिज कर दिया था। मौजूदा वक्त में अजहरुद्दीन हैदराबाद क्रिकेट संघ के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं।