अक्षर पटेल

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया के स्टार लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल (Axar Patel) अपने डेब्यू मैच से अब तक लगातार टीम इंडिया के लिए लगातार विकेटचटकाऊ गेंदबाजी कर रहे हैं। उन्हें रविंद्र जडेजा के चोटिल होने के चलते टीम इंडिया की टिकट मिली थी। भले ही अक्षर अच्छी गेंदबाजी कर रहे हो, लेकिन अभी भी टीम में जगह पक्की करने के लिए अग्निपरीक्षा से गुज़रना होगा।

शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं Axar Patel

Axar Patel

भारतीय क्रिकेट टीम के लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल को रविंद्र जडेजा के चोटिल होने के चलते इंग्लैंड सीरीज के लिए चुना गया। जहां, चोट के चलते Axar Patel ने पहला टेस्ट मैच मिस कर दिया। लेकिन चेन्नई के एम चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के साथ ही अक्षर पटेल ने टेस्ट डेब्यू किया और इंग्लैंड के खिलाफ लाजवाब गेंदबाजी की।

वह लगातार विकेटचटकाऊ गेंदबाजी करते हुए आगे बढ़ रहे हैं। लेफ्ट आर्म स्पिनर ने पहले मैच में 7, दूसरे मैच में 11 और तीसरे मैच की पहली पारी में विकेट चटकाए हैं। वह अब तक इस सीरीज में 5 पारियों में 10.82 के औसत से 22 विकेट चटका चुके हैं।

बल्ले से भी बनाने होंगे रन

टीम इंडिया के लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल ( Axar Patel) एक ऑलराउंडर खिलाड़ी हैं। वह निचले क्रम पर आकर तेज रन बनाने की भी काबिलियत रखते हैं। घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी की है। लेकिन अब तक इंग्लैंड सीरीज में उनके बल्ले से कुछ खास रन नहीं निकले हैं।

Axar Patel ने अब तक तीन पारियों में बल्लेबाजी की है जिसमें वह 7, 5 और 0 के स्कोर पर आउट हुए हैं। मगर इस बात में कोई शक नहीं है कि यदि उन्हें टीम में जगह पक्की करनी है, तो उन्हें बल्ले से भी टीम के लिए रन बनाने होंगे, क्योंकि इस बात से सभी वाकिफ हैं कि कप्तान विराट कोहली अपनी टीम की बल्लेबाजी इकाई को गहराई देने पर विश्वास रखते हैं। साथ ही वह रविंद्र जडेजा की जगह टीम में शामिल हुए हैं, जो अपनी बल्लेबाजी से भी मैच पलटने की ताकत रखते हैं।

सपाट पिचों पर करनी होगी ऐसी ही गेंदबाजी

Axar Patel

इस बात में कोई शक नहीं है कि अक्षर पटेल ( Axar Patel) ने अब तक इंग्लैंड सीरीज में जैसी गेंदबाजी की है, वह वाकई काबिल-ए-तारीफ है। उन्होंने अब तक सीरीज में 22 विकेट चटका लिए हैं। लेकिन अक्षर ने अब तक जिन पिचों पर गेंदबाजी की है, उसपर उन्हें टर्न मिला है।

लेकिन यदि इस स्पिनर को टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की करनी है, तो उन्हें ना केवल टर्निंग विकेट्स पर बल्कि सपाट पिचों पर भी ऐसी ही प्रभावी गेंदबाजी करनी होगी।