Avesh Khan-IPL

IPL 2021 भले ही पूरा नहीं हो सका, लेकिन इस टूर्नामेंट ने कुछ युवा खिलाड़ियों की ओर सभी का ध्यान खींचा। इसमें तेज गेंदबाज आवेश  खान (Avesh Khan) रहे। मध्य प्रदेश के इस पेसर को इंग्लैंड दौरे के लिए स्टैंडबाई प्लेयर के रूप  में चुना गया है। अब आवेश ने बताया है कि वह 2019 विश्व कप में टीम में भी वह भारतीय टीम का हिस्सा थे।

Avesh Khan रह चुके 2019 विश्व कप टीम का हिस्सा

avesh khan

आईपीएल में शानदार प्रदर्शन के बाद आवेश खान ( Avesh Khan) को इंग्लैंड दौरे के लिए चुनी गई भारतीय टीम में स्टैंडबाई खिलाड़ी के रूप में चुना गया है। अब यदि दौरे पर कोई खिलाड़ी चोटिल होता है या अनुपलब्ध होता है, तो युवा पेसर को खेलने का मौका मिल सकता है। Avesh Khan ने खुलासा किया है कि वह पहले भी भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके हैं। वह पहले नेट बॉलर के रूप में टीम रह चुके हैं। ईएसपीएन से बात करते हुए कहा है कि,

“मैंने टीम इंडिया के साथ साउथ अफ्रीका की यात्रा की है, 2019 विश्व कप के दौरान टीम में थे, साथ ही इंग्लैंड सीरीज का हिस्सा  भी थे।”

पंत और मैं करते थे इशारों में बात

दिल्ली कैपिटल्स के तेज गेंदबाज एनरिक नॉर्टजे कोविड संक्रमित आए, जिसके चलते वह दिल्ली के लिए एक भी मैच नहीं खेल सके। ऐसे में फ्रेंचाइजी ने युवा पेसर आवेश खान (Avesh Khan) को मौका दिया। आवेश ने अपनी सफलता के राज के बारे में बात करते हुए बताया,

“जैसे ही मैं अपना रन-अप शुरू करता था तो पंत को ओर देखता था। उस समय बल्लेबाज का ध्यान मुझ पर रहता था। यॉर्कर की जरूरत होती थी तो पंत के पास एक साइन होता था। अगर उनको मुझसे ऑफ स्टंप के बाहर गेंदबाजी करवानी होती थी तो उसके लिए एक अलग साइन होता था। हम दोनों इशारे में बातचीत करते थे।”

धोनी के विकेट की रणनीति

avesh khan

मध्य प्रदेश के तेज गेंदबाज आवेश खान (Avesh Khan) को दिल्ली कैपिटल्स ने आईपीएल 2021 में मौके दिए, जिसे पेसर ने अच्छी तरह भुनाया। उन्होंने 8 मैचों में 14 विकेट चटकाए और सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में दूसरे स्थान पर रहे। आवेश ने महेंद्र सिंह धोनी को आउट करने के पीछे की रणनीति का खुलासा किया। उन्होंने बताया,

“बहुत कम ओवर बाकी थे और पंत जानते थे कि धोनी बड़ा शॉट खेलने की कोशिश करेंगे। वो ये भी जानते थे कि धोनी 4 महीने के बाद बल्लेबाजी करने उतरे हैं तो ये उनके लिए आसान नहीं होगा। पंत ने मेरे से कहा कि गेंद को शार्ट रखना। मैंने वही किया और धोनी शॉट मारने की कोशिश में बोल्ड हो गए।”