ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी डीन जोन्स का 59 साल की उम्र में निधन से क्रिकेट जगत में सकते में हैं. दरअसल मुंबई में हार्ट अटैक के कारण उनकी मौत हो गई है. बता दें कि आईपीएल के दौरान डीन जोन्स मु्ंबई में रहकर कमेंट्री कर रहे थे. हाल के समय में सोशल मीडिया पर भी जोन्स काफी एक्टिव रहे थे. डीन जोन्स की मौत पर क्रिकेट जगत के कई दिग्गजों ने शोक व्यक्त किया है.

डीन जोन्स की मौत पर क्रिकेट जगत ने जताया शोक

अचानक से ही इस ऑस्ट्रेलिआई दिग्गज खिलाड़ी के दुनिया से जाने से पूरा क्रिकेट जगत हैरान है. ऑस्ट्रेलिया के लिए 52 टेस्‍ट, 164 वनडे इंटरनेशनल मैच खेलने वाले जोन्स की मौत पर रवि शास्त्री और वीरेंद्र सहवाग सहित कई खिलाड़ियों ने भारी शोक प्रकट किया है. उनमें से कुछ उदाहरण हम आपके सामने लेकर आये हैं.

इन क्रिकेटरों ने सोशल मीडिया पर डीन जोन्स की मौत पर जताया शोक

भारतीय टीम के मौजूदा कोच रवि शास्त्री ने डीन जोन्स की मौत पर दुःख जताते हुए कहा,

“एक सहयोगी और एक गजब के प्रिय मित्र – बहुत कम उम्र में डीन जोन्स को इस तरह खोना वास्तव में हैरान करता है. उनकी आत्मा को शांति मिले. परिवार के प्रति संवेदना.”

रवि शास्त्री के अलावा वीरेंद्र सहवाग ने भी कहा है कि उन्हें डीन जोन्स की मौत पर विश्वाश नहीं हो रहा है. इस दौरान सहवाग ने कहा,

“डीन जोन्स के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ. अभी भी इस खबर पर विश्वास नहीं किया जा सकता है. जोन्स मेरे पसंदीदा टिप्पणीकारों में से एक थे, उनकी याद आएगी.”

शास्त्री और सहवाग के अलावा भी कई क्रिकेटरों ने जताया दुःख

शानदार था जोन्स का क्रिकेट करियर

डीन जोंस की गिनती ऑस्‍ट्रेलिया के बेहतरीन क्रिकेटरों और धाकड़ फील्‍डर के रूप में होती थी. जोन्स ने 52 टेस्‍ट, 164 वनडे इंटरनेशनल मैचों में ऑस्‍ट्रेलिया का प्रतिनिधित्‍व किया. उन्‍होंने टेस्‍ट क्रिकेट में 46.55 के औसत से 3631 रन बनाए जिसमें 11 शतक और 14 अर्धशतक शामिल थे. वनडे इंटरनेशलन में जोंस ने 44.61 के शानदार औसत से 6068 रन बनाए जिसमें सात शतक और 46 अर्धशतक हैं.

टेस्‍ट क्रिकेट में जोंस ने 34 और वनडे में 54 कैच पकड़े. फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट की बात करें तो 245 प्रथम श्रेणी मैचों में डीन ने 19188 रन बनाए, नाबाद 324 रन फर्स्‍ट क्‍लास मैचों में उनका सर्वोच्‍च स्‍कोर रहा. जोंस ने टेस्‍ट क्रिकेट में दो दोहरे शतक बनाए जिसमें भारत के खिलाफ चेन्‍नई (तब का मद्रास) में वर्ष 1986 में खेली गई 210 रन की पारी शामिल है.