ASHWIN

भारतीय क्रिकेट टीम के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बेहतरीन गेंदबाजी की और साथ ही बल्ले के साथ भी ऐसा खेल दिखाया, जिससे चारों तरफ उनकी तारीफ हो रही है। अश्विन टेस्ट सीरीज में भारत के लिए दूसरे सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे। मगर इस बीच अब दिग्गज स्पिनर ने खुद को बेस्ट स्पिनर करार दिया है।

टीम में जगह के लिए लड़ रहा हूं

रविचंद्रन अश्विन

ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन मानो अपनी जगह के लिए संघर्ष कर रहे थे। लंबे वक्त से उनके बल्ले ने कुछ खास रन नहीं बनाए थे। अब रविचंद्रन अश्विन ने खुद इस बात को स्वीकार किया है कि यदि वह ऑस्ट्रेलिया दौरे पर एक या दो पारी में रन नहीं बनाते तो मुझे सीरीज से ड्रॉप किया जा सकता। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए गए इंटरव्यू में रविचंद्रन अश्विन ने टीम में अपनी जगह को लेकर बात करते हुए कहा,

‘मैं जब से टेस्ट क्रिकेट खेल रहा है, तब से एक गेम इधर या उधर। मैं लगातार टीम में बतौर एक अकेले स्पिनर के तौर पर टीम में अपनी जगह को लेकर लड़ाई लड़ रहा हूं। अगर मुझे मेरी बैटिंग स्किल्स के ऊपर जज किया जाएगा, तो एक पारी या दो पारी बहुत है मुझे उस सीरीज से ड्रॉप करने के लिए। मुझे लगता है कि यह सही नहीं है।’

मुझे कहा जा सके बेस्ट स्पिनर

रविचंद्रन अश्विन ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 12 विकेट हासिल किए। इसके अलावा सिडनी टेस्ट में उन्होंने हनुमा विहारी के साथ मिलकर मैच को ड्रॉ कराने में अहम भूमिका निभाई। रविचंद्रन अश्विन ने आगे खुद को बेस्ट स्पिनर करारते हुए कहा,

‘मैं अपनी जगह के लिए लड़ाई करता हुआ दिख रहा हूं और जब मैं यह कर रहा हूं तो मुझे अपनी प्राइमरी स्किल पर भी जोर देना है जो कि विकेट लेना है। मुझे लगता है कि पिछले दो सालों में मैंने सेना ( साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड) टूर पर इतना कर दिया है कि मुझे बेस्ट स्पिनर कहा जा सके।”

स्मिथ को आउट कर बनाया शानदार रिकॉर्ड

रविचंद्रन अश्विन

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को रविचंद्रन अश्विन ने काफी परेशान किया। अश्विन ने तीन टेस्ट मैच खेले, जिसमें 3 बार उन्होंने स्टीव स्मिथ का विकेट अपने नाम किया। दूसरे टेस्ट की पहली पारी में अश्विन ने स्मिथ को शून्य पर आउट कर दिया।

अश्विन भारत के पहले स्पिनर बन गए हैं जिन्होंने स्मिथ को शून्य पर पवेलियन भेजा। इतना ही नहीं जबकि टेस्ट क्रिकेट में भारत के खिलाफ स्मिथ पहली बार शून्य पर आउट भी हुए थे।