अशोक डिंडा-रिटायरमेंट

भारतीय टीम के खिलाड़ी अशोक डिंडा ने हाल ही में संन्यास लेने की घोषणा की है. इसके पीछे की एक बड़ी वजह उनके टीम से काफी लंबे वक्त से बाहर रहना कहा जा सकता है. साल 2009 का दौर है, जब उन्हें बीसीसीआई की ओर से भारतीय टीम का हिस्सा बनाया गया था, अफसोस कि वो ज्यादा लंबे वक्त तक अपने क्रिकेट करियर को सेक्योर रखने में फेल साबित हुए.

अशोक डिंडा ने सभी क्रिकेट फॉर्मेट से लिया संन्यास

अशोक डिंडा

साल 2013 की बात है, जब उन्होंने टीम इंडिया के लिए अपना आखिरी मैच जनवरी में खेला था. अशोक डिंडा को टीम की ओर से कुल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 13 वनडे मैच में खेलने का मौका दिया गया था, इसके अलावा उन्होंने 9 टी-20 मैच खेले थे. इसके बाद से वो लगातार 7 सालों से टीम से बाहर चल रहे थे. हाल ही में बीते मंगलवार,  2 फरवरी को अशोक डिंडा ने अपने संन्यास लेने की घोषणा अधिकारिक तौर पर कर दी है.

उन्होंने क्रिकेट के हर फॉर्मेट से संन्यास लेने का ऐलान किया है. हालांकि टीम की तरफ से खेले गए मैच में डिंडा का प्रदर्शन कुछ नहीं रहा है. यही वजह है कि रिटायरमेंट के बाद भी लोग उन्हें सोशल मीडिया के जरिए ट्रोल कर रहे हैं. उन्होंने टीम इंडिया के लिए 13 वनडे मैच खेलते हुए 51 की बहुत ही खराब औसत और 6.18 की  इकॉनामी रेट के साथ काफी महंगे साबित हुए हैं. उन्होंने कुल 12 विकेट चटकाए हैं.

संन्यास लेने के बाद भी ट्विटर पर ट्रोल हो रहे अशोक डिंडा

अशोक डिंडा-संन्यास

हालांकि अशोक डिंडा के आईपीएल करियर की बात करें तो इसमें भी इकॉनामी रेट के मामले में वो काफी महंगे ही साबित हुए हैं. इन्हीं कारणों से ट्विटर के जरिए फैंस एक बार फिर उन्हें डिंडा एकेडमी के नाम से ट्रोल कर रहे हैं. साथ ही लोग ऐसी बातें भी कर रहे हैं कि अब तो डिंडा जी जरूर ‘डिंडा एकेडमी’ खोलेंगे.

डिंडा एकडेमी पर ट्विटर के जरिए लोग दे रहे हैं ऐसा प्रतिक्रियाएं

https://twitter.com/thelamershit/status/1356686293288198144?s=20