Arjun Tendulkar

आईपीएल 2021 के ऑक्शन का आयोजन चेन्नई में हुआ। खिलाड़ियों पर लगी बोलियों ने कई पुराने रिकॉर्ड तोड़े। लेकिन इस बीच लगातार सोशल मीडिया पर जिस खिलाड़ी को लेकर चर्चा होती रही, वो हैं अर्जुन तेंदुलकर। सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन ने पहली बार आईपीएल ऑक्शन में अपना नाम ड्राफ्ट किया था और उसे मुंबई इंडियंस ने खरीदकर अपनी टीम का हिस्सा बनाया है।

अर्जुन तेंदुलकर को 20 लाख में मुंबई ने खरीदा

आईपीएल 2021

आईपीएल इतिहास की सबसे सफल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस ने आईपीएल 2021 के ऑक्शन में मास्टर-ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर को 20 लाख की बेस प्राइज में खरीदकर टीम में शामिल किया है।

दरअसल, ऑक्शन के दौरान उनका नाम ना आने पर सोशल मीडिया पर उन्हें काफी ट्रोल किया जा रहा था, कि तभी ऑक्शन के सबसे आखिरी नाम के रूप में अर्जुन पर बोली लगाने के लिए ऑक्शन में उनका नाम लिया गया। उनके नाम में एकमात्र फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस ने ही दिलचस्पी दिखाई और बेस प्राइज पर खरीद लिया।

सचिन तेंदुलकर के बेटे होने का रहता है प्रेशर

अर्जुन तेंदुलकर एक स्टार किड हैं। सचिन तेंदुलकर जैसे दिग्गज के बेटे होने के नाते वह हमेशा चर्चा में बने रहते हैं। ये बात कहीं ना कहीं अर्जुन पर अतिरिक्त दबाव डालती है। मुंबई इंडियंस की तरफ से ऑक्शन में अर्जुन पर जहीर खान ने ही बोली लगाई थी। जहीर ने ऑक्शन के बाद कहा,

‘अर्जुन तेंदुलकर बहुत ही मेहनती बच्चा है, वह काफी सीखना चाहता है, यह सबसे एक्साइटिंग बात है। सचिन तेंदुलकर का बेटा होने का एक्स्ट्रा प्रेशर उस पर हमेशा रहेगा, यह ऐसी चीज है, जिसके साथ उसे जीना होगा, टीम के माहौल से उसे मदद मिलेगी।’

नेट बॉलर के रूप में थे टीम का हिस्सा

अर्जुन तेंदुलकर

मुंबई इंडियंस द्वारा अर्जुन को खरीदे जाने को लेकर लगातार सोशल मीडिया पर ये चर्चा चल रही है कि वह सचिन के बेटे हैं, इसीलिए मुंबई ने उन्हें खरीदा है। लेकिन अब मुंबई के हेड कोच महेला जयवर्धने ने ये साफ कर दिया है कि उन्होंने अर्जुन के टैलेंट के लिए उन्हें खरीदा है। ईएसपीएनक्रिकइंफो ने जयवर्धने के हवाले से कहा,

“हमने उसमें उसकी स्किल देखी है। मेरा मतलब है कि सचिन की वजह से उनके सिर पर एक बड़ा टैग होने वाला है। लेकिन, सौभाग्य से, वह एक गेंदबाज है, बल्लेबाज नहीं। इसलिए मुझे लगता है कि सचिन को बहुत गर्व महसूस होगा यदि वह अर्जुन की तरह गेंदबाजी करते हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि यह अर्जुन के लिए सीखने की प्रक्रिया है। उन्होंने अभी-अभी मुंबई और फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलना शुरू किया है। वह एक युवा खिलाड़ी हैं, जिनपर सभी की नजरें टिकी रहेंगी।”