टीम इंडिया के सिक्स़र किंग युवराज सिंह अपने करियर के सबसे बुरे दौर से गुजर रहे हैं कहा जाये तो गलत नहीं कहलायेगा. नौबत यह आ गयी है कि अब उन्हें आईपीएल की टीम में भी जगह दी जानी चाहिए या नहीं. इस बात पर बहस शुरू हो गयी है. वह बल्लेबाज जिसके क्रिच पर उतरते ही गेंदबाज अपनी लाइनलेंथ भटक जाता था, जब वह रंग में होता था तो अच्छे अच्छे गेंदबाज बेरंग नज़र आने लगते थे लेकिन आज हालात कुछ और हैं. बता दें, युवी इस आईपीएल सीजन किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेल रहे हैं.

इस सीजन के दोनों मैचों में अभी तक युवी बुरी तरह फ्लाप रहे हैं. दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ पहले मैच में युवी ने मात्र 12 रन बनाए वहीं रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ जब टीम को युवी की जरुरत थी तो वो चार बना चलते बने. इस मैच के बाद तो टीम के कोच ने युवी को ब्लेम करते हुए कहा भी था कि हमें युवी ने बैकफूट पर धकेल दिया. आईपीएल की दो पारियां देखने के बाद फैन्स भी बेहद निराश हैं.
बता दें, इस सीजन नीलामी के दौरान इस दिग्गज खिलाड़ी का कोई खरीददार नहीं मिल रहा था. वो तो किंग्स इलेवन पंजाब है जिसने आखिरकार युवी को उनके बेस प्राइज 2 करोड़ रुपये पर खरीद लिया. अब जब मौका मिल रहा है तो युवी इस्क्ला लुफ्त नहीं उठा पर रहे हैं यही वजह है कि अब लोग युवी के खिलाफ बोलने लगे हैं.

युवी के खिलाफ टीम इंडिया के पूर्व हरफमौला खिलाड़ी अजीत अगरकर ने आवाज़ उठाई है. अगरकर का कहना है कि “अब युवराज की टीम में कोई जगह नहीं बनती. उनकी जगह बंगाल के मनोज तिवारी जिन्हें अभी तक मौका नहीं मिला है उन्हें अगले मैच में मौका मिलना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि अब इस बाये हाथ के बल्लेबाज का समय ख़तम हो रहा है. सही समय देख इन्हें क्रिकेट से दूर हो जाना चाहिए.”

उन्होंने आगे कहा कि “अश्विन वास्तव में उस स्लॉट के बारे में सोच रहे होंगे जिससे मध्यक्रम पर ज्यादा दबाव न बने. हर कप्तान की सोच होती है कि अगर उनके सलामी बल्लेबाज अच्छा न कर रहे हो तो मध्यक्रम आसानी से चीज़ें हैंडल कर ले जाये. इसके लिए वो भी इन्फर्म बल्लेबाजों को मौका देने की सोच रहे होंगे.”