Ajinkya Rahane-NZ Test

भारतीय क्रिकेट टीम और इंग्लैंड क्रिकेट टीम के बीच 4 अगस्त से 5 मैचों की टेस्ट सीरीज शुरु होने वाली है। इस सीरीज के शुरु होने से पहले दोनों ही टीमें खुद को शारीरिक व मानसिक रूप से तैयार कर रही हैं। इस बीच टीम इंडिया के उपकप्तान Ajinkya Rahane ने पुछल्ले बल्लेबाजों को लेकर बयान दिया है। उनका कहना है कि पुछल्ले बल्लेबाजों द्वारा बनाए गए कुछ रन काफी मायने रखते हैं। उन्होंने शार्दुल का उदाहरण भी पेश किया।

हर खिलाड़ी होता है अलग

Ajinkya Rahane

टीम इंडिया के उपकप्तान अजिंक्य राहणे (Ajinkya Rahane) का मानना है कि सभी खिलाड़ी अलग होते हैं। साथ ही उन्होंने शार्दुल ठाकुर व हार्दिक पांड्या के बारे में चर्चा की। रहाणे ने कहा,

‘‘हर कोई अलग तरह का खिलाड़ी है। हार्दिक ने 2018 में जो किया वह हमारे लिए अलग था। शार्दुल बल्लेबाजी कर सकता हैं। आपने उसको ऑस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी करते देखा है और उसने घरेलू क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन किया है।’’

पुछल्ले बल्लेबाजों से है योगदान की उम्मीद

ये बात किसी से छिपी नहीं है कि भारतीय टीम के पुछल्ले बल्लेबाज विदेशों में भारत की हार की वजह रहे हैं। उन्होंने लगातार निराश किया है। हाल ही में WTC फाइनल में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला, जब भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों ने सस्ते में अपने विकेट गंवाए। Ajinkya Rahane ने कहा,

‘‘(जसप्रीत) बुमराह, (मोहम्मद) शमी, (मोहम्मद) सिराज, उमेश (यादव) और ईशांत (शर्मा) नेट सत्र में अभ्यास कर रहे हैं। पारी के आखिर में हम जो भी 20-30 रन बनाते हैं, वह बहुत मायने रखता है। यह अच्छा है कि वे नेट सत्र में कम से कम 10-12 मिनट तक बल्लेबाजी करना चाहते हैं। इसका परिणाम बाद में दिखेगा। अभी यह प्रक्रिया और कड़ी मेहनत करके टीम के सदस्य के रूप में योगदान करना महत्वपूर्ण है। हम अपने पुछल्ले बल्लेबाजों से कुछ योगदान की उम्मीद कर रहे हैं।’’

हमने एक साथ बैठकर बैटिंग पर चर्चा की

Ajinkya Rahane

क्रिकेट की पुरानी कहावत है कि जिसने इंग्लैंड में बल्लेबाजी कर ली, वह किसी भी परिस्थितियों में खेल सकता है। Ajinkya Rahane ने भी इंग्लैंड की कंडीशंस को लेकर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने बताया,

‘‘जाहिर है, हमने एक साथ बैठकर अपनी बल्लेबाजी योजनाओं के बारे में चर्चा की लेकिन इंग्लैंड में एक बल्लेबाज के लिए यह चुनौतीपूर्ण स्थिति है। हर किसी की अलग-अलग योजनाएं होती हैं और सभी को अपनी (खेली) शैली का समर्थन करने की जरूरत होती है। हम उम्मीद करते हैं कि इंग्लैंड हमें इस तरह के विकेट मिलेंगे। यह उसका घरेलू मुकाबला है और हम इसके बारे में ज्यादा नहीं सोच रहे है। हमें पिच की चिंता नहीं है।’’