EqYG7WXU0AQ 6bm

एडिलेड टेस्ट में जिस तरह से भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा था. उसके बाद से वापसी की उम्मीद बहुत ही कम नजर आ रही थी. जिसके बाद विराट कोहली के गैरमौजूदगी में अजिंक्य रहाणे ने टीम की कप्तानी संभाली और किस्मत को ही बदल कर रख दिया. जिसमें युवा शुभमन गिल ने बल्ले से उनका साथ दिया.

अजिंक्य रहाणे ने बतौर कप्तान रच दिया इतिहास

28rahane bat raise

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम जिस तरह से दूसरी पारी में 36 रनों पर सिमट गयी. उसके बाद वापसी की कोई उम्मीद नहीं थी. रोहित शर्मा और ईशांत शर्मा पहले ही इस सीरीज का हिस्सा नहीं थे. जबकि पहले टेस्ट मैच के बाद मोहम्मद शमी और नियमित कप्तान विराट कोहली भी सीरीज से बाहर हो गये. जिसके बाद भी अजिंक्य रहाणे ने कप्तानी संभाली और उसके बाद उन्होंने भारतीय टीम की किस्मत बदल दी.

इस मैच में बल्ले से पहले अजिंक्य रहाणे ने 112 रन बनाये. जबकि दूसरी पारी के दौरान उन्होंने नाबाद 27 रन जोड़े. जबकि कप्तानी के दौरान उनके द्वारा किये गये बदलाव ने दिग्गजों को भी प्रभावित किया. ऑस्ट्रेलिया में बतौर कप्तान अपना पहला टेस्ट मैच जीतने वाले रहाणे पहले कप्तान भी बन गये हैं. जबकि उन्होंने अब तक 3 टेस्ट मैच में कप्तानी की और सभी में जीत दर्ज किया है.

शुभमन गिल ने खुद को किया साबित

Shubman Gill

बात अगर बल्ले से होने वाले प्रदर्शन की करें तो फिर पृथ्वी शॉ की जगह टीम में शामिल हुए युवा शुभमन गिल ने पर्दापण मैच में ही अपने जौहर दिखा दिए. पहली पारी में उन्होंने 45 रन बनाये. जबकि दूसरी पारी में उन्होंने नाबाद रहते हुए 35 रन बनाये.

जहाँ पर अन्य भारतीय बल्लेबाजों को पैट कमिंस, जोश हेजलवुड और मिचेल स्टार्क के सामने परेशानी हो रही थी. वहीँ गिल ने अपने बल्ले से इन गेंदबाजो को जमकर परेशान किया. उन्होंने इसके साथ ही ये भी बता दिया की वो भविष्य में भारत के अगले सुपरस्टार बन सकते हैं. जिसके बारें में बातें भी हो रही है.

भारत को हुआ इसका फायदा

EqTTYfTUwAA 3fB scaled

जिस अंदाज में बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच के दौरान भारतीय टीम ने खेल दिखाया है. उससे एक बात तो साफ़ है कि ये टीम पिछले मैच को भूल कर जल्दी आगे बढ़ना जानती है. इसी वजह से ही इस मैच में भारत ने जीत दर्ज की है. अब उनकी नजर टेस्ट सीरीज के मैच में बढ़त लेने पर होगी.