Virat Kohli and Ajinkya Rahane 784x441 1
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय टीम मौजूदा समय में ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर है. जहाँ पर एकदिवसीय और टी20 सीरीज के बाद अब टेस्ट फ़ॉर्मेट खेला जा रहा है. जहाँ पर एडिलेड में खेले गये पहले टेस्ट मैच में भारतीय टीम बुरी तरह से हार गयी. जिसके साथ ही वो 4 मैचों की सीरीज में 1-0 से पीछे हो गये.

पहले मैच के बाद अब भारतीय टीम के नियमित कप्तान विराट कोहली भारत वापस आ रहे हैं. जल्द ही विराट कोहली पिता बनने वाले हैं. जिसके कारण ही वो अपनी पत्नी अनुष्का शर्मा के साथ समय बिताने के लिए भारत आ जायेंगे और बाकि 3 टेस्ट मैच में वो टीम का हिस्सा नहीं होंगे.

ऐसे में अब विराट कोहली के गैरमौजूदगी में अजिंक्य रहाणे टीम की कप्तानी करते हुए नजर आयेंगे. आज हम आपको 3 वजह बताएँगे जिसके कारण रहाणे की जगह रविचंद्रन अश्विन को टेस्ट सीरीज में कार्यवाहक कप्तान होना चाहिए था.

1. मौजूदा फॉर्म भी डालेगा असर

ASHWIN

क्रिकेट के दुनिया में फॉर्म में बने रहने वाले खिलाड़ी का सबसे ज्यादा महत्व होता है. मौजूदा समय में देखे तो विराट कोहली के गैरमौजूदगी में 3 सबसे ज्यादा सीनियर खिलाड़ियों की बात करें तो उस लिस्ट में अश्विन, रहाणे और पुजारा ही नजर आते हैं.

अजिंक्य रहाणे के फॉर्म की बात करें तो पिछले कुछ समय से वो बहुत ज्यादा उतार चड़ाव से जूझ रहे हैं. कुछ ही मौकों पर वो अपनी टीम के लिए अच्छा प्रदर्शन करने पर सफल रहे हैं. ऐसे में उनपर कई बड़े सवाल भी खड़े होते रहे हैं.

जबकि रविचंद्रन अश्विन के मौजूदा फॉर्म को देखें तो एडिलेड में खेले गये पहले टेस्ट मैच में ही उन्होंने टीम के लिए 6 विकेट निकाले थे. उसके साथ ही फॉर्म होने के कारण ही अश्विन मैदान पर बहुत ज्यादा आत्मविश्वास के साथ भी नजर आ रहे थे.

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse