KL Rahul-Ajay Jadeja

आईपीएल 2021 में केएल राहुल (KL Rahul) की कप्तानी में पंजाब किंग्स के प्रदर्शन को देखें तो फैंस को सिर्फ निराशा हाथ लगी है. इसी बीच अजय जडेजा (Ajay Jadeja) ने कप्तान को लेकर अपनी बड़ी प्रतिक्रिया दी है. रविवार को खेले गए मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के हाथो टीम को 6 रन से हार का सामना करना पड़ा. ये मुकाबला पंजाब के नजरिए से बेहद खास था. क्योंकि प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए ये बड़ा जरिया था. लेकिन, अब ये चांस टीम के हाथ से फिसलता हुआ दिखाई दे रहे है.

पंजाब के कप्तान में नहीं है लीडर वाली क्वालिटी

KL Rahul

बीते सीजन में भी पंजाब को प्लेऑफ से बाहर होना पड़ा था. हाल ही में विराट कोहली (Virat Kohli) ने भारतीय टीम की टी-20 फॉर्मेट से कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था. इसके बाद कुछ क्रिकेट पंडितों ने केएल राहुल (KL Rahul) को ये जिम्मेदारी सौंपने का सुझाव दिया था. लेकिन, भारत के पूर्व खिलाड़ी का मानना है कि पंजाब के कप्तान के अंदर वो लीडर वाली कोई बात नजर नहीं आती है. साथ ही उन्होंने उनकी क्षमता और मेजबानी पर भी कई तरह के सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं.

इस बारे में ‘क्रिकबज’ के साथ बातचीत करते हुए अजय जडेजा ने कहा कि,

‘यदि आप लोकेश को देखेंगे तो वह दो साल से इस टीम के कप्तान हैं. लेकिन, मुझे कभी महसूस नहीं हुआ कि वह एक लीडर हैं. यह टीम जब भी अच्छे या बुरे फेस से गुजरी तो हमने कभी भी उनके तरफ नहीं देखा. पंजाब की टीम जो आज मैदान पर उतरी है जो टीम में बदलाव हुए हैं वो आपको क्या लगता है कि केएल राहुल ने किए हैं?’

एडजस्ट करने वाले खिलाड़ी लंबे समय तक कप्तान रहते हैं- अजय जडेजा

photo 2021 10 04 18 54 35

इस सिलसिले में आगे बात करते हुए पूर्व क्रिकेटर ने ये भी कहा कि,

“यदि कोई भारतीय टीम का कप्तान बनता है तो वो अपनी फिलोसॉफी के ऊपर. क्योंकि वह एक लीडर होना चाहिए और यह चीज मुझे केएल राहुल (KL Rahul) के अंदर नहीं दिखाई देती है. अब तक वह काफी धीरे बोलने और हर चीज में एडजस्ट करने वाले खिलाड़ियों में शामिल रहे हैं. अगर वह एक दिन कप्तान बन जाते हैं तो काफी लंबे समय तक कप्तानी करेंगे. क्योंकि जो खिलाड़ी एडजस्ट करने के लिए तैयार रहता है वह लंबे समय तक टिकता है.”

अजय जडेजा ने आगे अपनी बातचीत में ये भी कहा कि,

‘मैं उनको निजी तौर पर नहीं जानता हूं और आप उनका दूसरा रूप देखते होंगे. लेकिन, आमतौर पर वह जब ग्राउंड पर रहते हैं तो धोनी की तरह ही काफी शांत रहते है. कुछ अच्छी चीजें भी जरूरी हैं. लेकिन, सबसे बड़ी बात यह है कि आपको एक लीडर बनना पड़ेगा. लोग आपके निर्णय पर डिबेट करेंगे. वो ये क्यों कर रहे है और क्या यह उनके साथ कभी नहीं हुआ है? यहां तक की एक आईपीएल टीम के तौर पर भी नहीं, क्योंकि KL Rahul अपने कंधे पर जिम्मेदारी ही नहीं ली है और बाकियों को टीम चलाने की अनुमति दी है.’