अंबाती रायडू

भारतीय क्रिकेट टीम मे पिछले कुछ दिनों से संन्यास की तो मानो बाढ़ सी आ गई है. जून मे सिक्सर किंग युवराज सिंह ने संन्यास ले लिया इसके बाद एक और खिलाड़ी ने संन्यास लिया. भारतीय क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड की मेजबानी में खेले जा रहे आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में मंगलवार को सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है. इस ख़ुशी के बाद ही अंबाती रायडू ने संन्यास लेने कर दी है घोषणा.

अंबाती रायडू ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से लिया संन्यास

अंबाती रायडू

यह नाम सुन कर सब हैरान है. विश्व कप 2019 मे भारतीय टीम के स्टेंड बाय खिलाड़ी रायडू अचानक से ऐसा फैसला लेंगे इसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की गई होगी. यह चौकाने वाली खबर बीसीसीआई के सूत्रों के हवाले से मिली है.

विश्व कप 2019 में जगह नहीं मिलने के बाद टूर्नामेंट के अंतिम दौर में अंबाती रायडू ने तीनों ही फॉर्मेट से रिटायरमेंट का फैसला किया है, पिछले एक साल से टीम के स्थायी सदस्य के रूप में खेलने वाले अंबाती रायडू ने अचानक से ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने का मन बना लिया है.

विजय शंकार की जगह न मिलने पर अंबाती रायडू थे निराश

इस विश्व कप मे भारतीय टीम को अपने दो खिलाड़ियों को चोट के कारण टूर्नामेंट से बाहर करना पड़ा. हाल ही मे बुमराह की गेंद का शिकार हुए विजय शंकर को को भी टीम से बाहर करना पड़ा इसके बाद भी अम्बाती रायडू की जगह मयंक अग्रवाल को दे दी गई.

अपने आपको लगातार तीसरी बार नजरअंदाज किए जाने के बाद अंबाती रायडू बुरी तरह से निराश थे और इसी बीच उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का फैसला कर लिया.

विश्व कप टीम का हिस्सा होने के बाद भी अम्बाती को नहीं मिला मौका

अम्बाती रायडू को एक साल से लगातार भारतीय टीम के लिए वनडे फॉर्मेट में खेलने वाले अंबाती रायडू को विश्व कप स्क्वॉड में नहीं चुना गया था जिसके बाद से ही वो निराश थे.

इसके बाद बीसीसीआई ने टीम के चयन के बाद अंबाती रायडू के साथ ही ऋषभ पंत को स्टेंड बाय खिलाड़ी के रूप में रखा था. लेकिन विश्व कप में जैसे ही शिखर धवन चोट के कारण बाहर हुए तो बीसीसीआई ने ऋषभ पंत को मौका दे दिया और रायडू को फिर एक बार नज़रअंदाज़ कर दिया गया.