भारतीय टीम और श्रीलंकाई टीम के बीच तीन मैचों की टी20 सीरीज का पहला मैच आज 22 दिसंबर शुक्रवार को इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेला गया.

इंदौर के होल्कर स्टेडियम में हुए दुसरे टी20 मैच को भारतीय टीम ने अपने शानदार प्रदर्शन के चलते मैच को बहुत ही आसानी से 88 रनों से जीत लिया और सीरीज को भी 2-0 की बढ़त बना ली.

रोहित-राहुल की शानदार बल्लेबाजी से खड़ा किया विशाल स्कोर 

इस पहले टी20 मैच में श्रीलंकाई टीम के कप्तान थिसारा परेरा ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शानदार शुरूआत की और ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल और रोहित शर्मा ने मात्र 12.3 ओवर में ही 165 रन की शानदार साझेदारी कर डाली.

भारतीय टीम के लिए ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल ने जहां 49 गेंदों में 89 रन की शानदार पारी खेली. वही भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने मात्र 43 गेंदों 118 रन का एक शानदार शतक लगाया.

राहुल और रोहित की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत भारतीय टीम निर्धारित 20 ओवर में पांच विकेट के नुकसान पर 260 रन का बड़ा स्कोर बनाने में कामयाब रही. श्रीलंका के लिए कप्तान थिसारा परेरा ने अपने कोटे के चार ओवर में 49 रन देकर अपनी टीम के लिए दो विकेट लिए.

भारतीय गेंदबाजो के आगे श्रीलंका ने टेके घुटने 

जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम भारतीय टीम के गेंदबाजो के आगे पूरी तरह बेबस नजर आई और नियमित अंतराल में अपने विकेट गंवाती रही और श्रीलंका की पूरी टीम 17.2 ओवर में ही 172 रन बनाकर आल आउट हो गई.

श्रीलंका के लिए सबसे ज्यादा 37 गेंद में 77 रन की पारी कुशल परेरा ने खेली. वही भारतीय टीम के लिए युवा लेग स्पिनर युज्वेंद्र चहल ने शानदार गेंदबाजी करते हुए अपने कोटे के चार ओवर में चार विकेट निकाले. वही कुलदीप यादव ने भी भारतीय टीम के लिए तीन विकेट निकाले.

रोहित को शानदार पारी के लिए मिला ‘मैन ऑफ़ द मैच’

भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा को 43 गेंद में 118 रन की शानदार शतकीय पारी के लिए ‘मैन ऑफ़ द मैच’ के खिताब से नवाजा गया. रोहित ने अपनी पारी में 12 शानदार चौके व 10 गगनचुम्बी छक्के लगाये.

रोहित ने मैच जीतने के बाद कहा ये 

भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने मैच जीतने के बाद व ‘मैन ऑफ़ द मैच’ मिलने के बाद अपने बयान में कहा,

“बल्लेबाजी करने के लिए यहां बहुत अच्छी परिस्थितियां थी, इसलिए यहां बल्लेबाजी करने के लिए मंच पहले से ही सेट था.  मैं हमेशा बॉल की लाइन में आकर उसे हिट करने की कोशिश करता हूं और यह मेरे लिए पिछले कुछ महीनों से भलीभांति काम भी कर रहा है.

जब मैं आउट होकर पवेलियन में गया, तो लोग मुझसे मस्ती के मुड़ में पुछ रहे थे, कि आप दोहरें शतक के लिए क्यों नहीं गये, लेकिन मेरा यह कोई लक्ष्य नहीं था. हम सिर्फ ज्यादा से ज्यादा संभव रन प्राप्त करना चाहते थे.”

SHARE