भारतीय टीम के लिए आज 16 सितम्बर को उस समय बहुत बुरी खबर आई जब भारतीय टीम के फॉर्म में चल रहे शानदार ऑलराउंडर अक्षर पटेल को अभ्यास सत्र के दौरान चोट लग गई.

दरअसल हुआ यु कि, शनिवार को भारतीय टीम जब अभ्यास सत्र के दौरान फुटबॉल खेल रही थी. उस समय अक्षर पटेल के बाएँ पैर में मोच आ गई और वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ श्रृंखला के शुरूआती तीनों मैचों से बाहर हो गये.

जडेजा को मिला मौका 

अक्षर पटेल के चोटिल हो जाने की वजह से भारतीय टीम में अब टीम के अनुभवी स्टार ऑलराउंडर रविन्द्र जडेजा को मौका मिला है. जडेजा को शुरुआती तीन वनडे मैच में शामिल करने की घोषणा बीसीसीआई द्वारा कर दी गई है.

अक्षर की चोट ट्विटर पर भी छाई

 

भारतीय टीम के ऑलराउंडर अक्षर पटेल की चोट आज दिनभर ट्विटर पर भी छाई रही और लोगो ने अक्षर पटेल की चोट व रविन्द्र जडेजा की टीम में वापसी को लेकर कई ट्विट किये. लोगो की जमकर किये गये ट्विट के चलते क्रिकेट से जुड़ी ये खबर ट्विटर पर भी ट्रेंड करने लगी. क्रिकेट प्रेमियों द्वारा इस खबर में किये गये कुछ ट्विट हम आपको दिखाते है.

ये रहे लोगो द्वारा किये गये ट्विट 

https://twitter.com/jha_siddhus94/status/909085588409724928

https://twitter.com/ritiksom1/status/909075830797606912

https://twitter.com/Chamkaur1026/status/909073166298783744

श्रीलंका दौरे पर निभाई थी महत्वपूर्ण भूमिका 

23 वर्षीय अक्षर पटेल ने श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. अक्षर ने श्रीलंका में बेहतरीन इकॉनमी रेट से गेंदबाजी करते हुए वनडे सीरीज में 6 विकेट हासिल किए थे.

अक्षर को श्रीलंका के सीरीज में शामिल रविन्द्र जडेजा को आराम देकर किया था और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी चयनकर्ताओ ने जडेजा को आराम देकर अक्षर को टीम में शामिल किया था, लेकिन अब अक्षर की चोट के बाद चयनकर्ताओ को रविन्द्र जडेजा को वापस टीम में बुलाना पड़ा है.

दोनों की एक जैसी शैली

अगर रविन्द्र जडेजा व अक्षर पटेल की तुलना की जाये तो दोनों ही खिलाड़ियों की लगभग एक जैसी ही शैली है. जडेजा भी जहां बॉल को अच्छी तरह हिट कर लेते है और जबरदस्त फील्डिंग करते है व शानदार गेंदबाजी करते है, तो अक्षर भी बिलकुल उनके समान ही अच्छी हिटिंग गेंदबाजी व फील्डिंग करते है.

दोनों ही गेंदबाज अच्छी दिशा व लम्बाई से गेंद करते है और अपनी दिशा व लम्बाई का टिप्पा पकड़कर रखते है और अपनी काबिलियत की वजह से बल्लेबाजो को ज्यादा हाथ खोलने का मौका भी नहीं देते है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *