Aaqib Javed claimed that arshdeep singh basic bowler he dont have any trademark
Aaqib Javed claimed that arshdeep singh basic bowler he dont have any trademark

Arshdeep Singh: भारतीय टीम के घातक तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह को पाकिस्तान टीम के पूर्व क्रिकेटर आकिब जावेद ने मामूली गेंदबाज़ करार दिया है. उनका मानना है कि ऐसे गेंदबाज़ों का कोई अपना ट्रेडमार्क नहीं होता. यही वजह है कि इससे विपक्षी बल्लेबाजों को भी इनसे कोई फर्क नहीं पड़ता है. पूर्व पाकिस्तानी खिलाड़ी का कहना है कि अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) एक बेसिक गेंदबाज़ हैं. इस बारे में उन्होंने और क्या कुछ ज्ञान देने की कोशिश की है आइये जानते हैं.

अर्शदीप जैसे गेंदबाजों के पास कोई ट्रेडमार्क नहीं होता

 Aaqib Javed on Arshdeep Singh

दरअसल आकिब जावेद ने पाकटीवी के साथ हुई बातचीत में अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) को लेकर चौंकाने वाला बयान दिया. उन्होंने इस बारे में बात करते हुए कहा,

‘वह एक बेसिक बॉलर हैं. टी-20 फॉर्मेट में गेंदबाज़ों को भुवनेश्वर की तरह स्विंग चाहिए या फिर आपके पास पेस होनी चाहिए या फिर गेंदबाज़ लंबा हो और उसके पास अच्छे यॉर्कर हो. गेंदबाज़ों का एक ट्रेडमार्क चलता है.’

इस सिलसिले में आगे बात करते हुए पाकिस्तान टीम के पूर्व क्रिकेटर ने कहा,

‘आप बुमराह को देखिए जिस तरह से वह यॉर्कर मारते हैं या शॉर्ट पिच गेंदबाज़ी करते हैं. हार्दिक पांड्या हैं तो बाउंसर मारते हैं, शाहीन का इनस्विंग अच्छा है. हारिस रऊफ के पास पेस है. तो ये जो अर्शदीप सिंह जैसे बॉलर होते हैं इनका कोई ट्रेंडमार्क नहीं होता. विपक्षी टीम ऐसे गेंदबाज़ों के बारे में कुछ सोचती भी नहीं है.’

महज 23 साल की उम्र में गेंदबाज ने टीम में बना ली है जगह

Arshdeep singh

बता दें कि अर्शदीप की प्रतिभा को देखते हुए ही उन्हें न सिर्फ एशिया कप 2022 के लिए भारतीय टीम में चुना गया था. बल्कि वर्ल्ड कप 2022 में भी इस घातक गेंदबाजों को स्क्वॉड में शामिल किया गया है. हालांकि उनकी गेंदबाज़ी में अब तक पेस देखने को नहीं मिली है. लेकिन, इस युवा गेंदबाज़ ने अपनी काबिलियत के दम पर महज़ 23 साल की उम्र में विश्व कप के लिए टीम में जगह बनाई है.

जबकि ऐसे टूर्नामेंट में भारत की जर्सी में खेलने का कई खिलाड़ियों को मात्र सपना ही रह जाता है. जबकि अर्शदीप (Arshdeep Singh) ने इस सपने सिर्फ 23 साल की उम्र में पूरा कर लिया है. उन्होंने टीम इंडिया की ओर से अभी तक सिर्फ 11 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले ही खेले हैं. लेकिन दिलचस्प बात तो यह है कि उन्होंने इस दौरान 7.36 की इकोनॉमी से गेंदबाज़ी करते हुए 14 विकेट झटके हैं. इतना ही नहीं वो डेथ ओवर्स में यॉर्कर फेंकने में भी माहिर हैं.