Aakash Chopra

पूर्व क्रिकेटर बल्लेबाज और मशहूर कमेंटेटर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) अपने बेबाक बयानों के लिए विश्वभर में जाने जाते हैं। वह अपनी बात रखने से कभी भी हिचकते नहीं हैं। वहीं, हाल ही में उन्होंने डोमेस्टिक फर्स्ट क्लास चैंपियनशिप रणजी ट्रॉफी के फॉर्मेट को लेकर सवाल उठाए हैं। बता दें कि रणजी ट्रॉफी के फॉर्मेट के अनुसार, ड्रॉ होने की स्थिति में, पहली पारी में बढ़त हासिल करने वाली टीम टूर्नामेंट में आगे बढ़ती है। रणजी के इसी फॉर्मेट को लेकर आकाश ने सवाल खड़े किए हैं।

Aakash Chopra ने रणजी ट्रॉफी फॉर्मेट को लेकर खड़े किए सवाल

Aakash Chopra

दरअसल, बेंगलुरू में उत्तर प्रदेश और मुंबई के बीच खेले हुए रणजी ट्रॉफी का सेमीफाइनल मैच खेला गया था। सेमीफाइनल मैच ड्रॉ होने के कारण मुंबई फाइनल में पहुँच गई। अपनी पहले पार के दौरान मुंबई ने 393 रन जोड़े थे। वहीं दिए हुए टारगेट को चेज़ करने उतरी यूपी की टीम 156 रनों में ही सिमट गई। इस बाद मैच की दूसरी पारी में मुंबई ने 156 ओवर बल्लेबाजी की और चार विकेट के नुकसान पर 533 रन बनाए।

मुंबई की टीम 662 रनों से बढ़त हासिल कर चुकी थी। ऐसे में टीम ने मैच जीतने में कोई इच्छा नहीं दिखाई और मैच का अंत ड्रॉ के साथ हुआ और मुंबई ने फाइनल की टिकट कटवा ली। आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने अपने यूट्यूब चैनल पर रणजी के इस फॉर्मेट को लेकर सवाल खड़े करते हुए कहा,

“मुंबई फाइनल में पहुंचने का हकदार था लेकिन उसकी बढ़त (दिन 4 के अंत में) 662 रन थी। ये रणजी ट्रॉफी फॉर्मेट के साथ एक समस्या है और ये मेरा बड़ा मुद्दा है। अगर पहली पारी इए बढ़त के आधार पर रणजी ट्रॉफी मैच विजेता का फैसला होना है तो खेलें ही क्यों? मुंबई ने सेमीफाइनल जीतने की कोशिश ही नहीं की। पहली पारी में बढ़त हासिल करने के बाद वो लगातार बल्लेबाजी करते रहे। इससे मेरा दिल टूट गया।”

Aakash Chopra ने इस खिलाड़ी की तारीफ में बांधे पुल

yashasvi

आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने अपने वीडियो में यशस्वी जायसवाल की तारीफ करते हुए आगे कहा कि,

“मुंबई ने एक और रणजी ट्रॉफी फाइनल में जगह बनाई है और वो एक बार फिर टूर्नामेंट जीतने के लिए फेवरेट होंगे। यशस्वी जायसवाल ने दिखाया है कि वो एक रक्षक के साथ-साथ विध्वंसक भी हो सकते हैं। ये केवल तीसरा फर्स्ट क्लास मैच था और यूपी एक अच्छी टीम के खिलाफ दोनो पारियों में शतक बनाना एक सराहनीय प्रयास था।”

मुंबई को पहले बल्लेबाजी करने के लिए न्योता मिलने के बाद, टीम ने अपनी पहली पारी में 393 रनों की विशाल पारी खेली। यशस्वी जायसवाल और विकेटकीपर-बल्लेबाज हार्दिक तमोर ने पारी में एक-एक शतक लगाया।

जवाब में, यूपी 156 रनों में ही सिमट गई, जिसके बाद मुंबई ने दूसरी पारी में 533-4 (का स्कोर बनाया, जिसमें जायसवाल ने मैच का अपना दूसरा शतक बनाया। दूसरी पारी में 127 रन बनाने वाले अरमान जाफर से उन्हें काफी समर्थन मिला।

One reply on “‘रणजी ट्रॉफी फॉर्मेट मेरे लिए बड़ा मुद्दा है’ Aakash Chopra ने रणजी ट्रॉफी फॉर्मेट पर खड़े किए सवाल”

Comments are closed.