rahul dravid
Prev1 of 9
Use your ← → (arrow) keys to browse

इंग्लैंड में जन्मे क्रिकेट (Cricket) के खेल को जेंटलमैन खेल के नाम से जाना जाता है, कई ऐसे मौके भी आए हैं, जब कई खिलाड़ियों ने मैदान और मैदान के बाहर इस बात को सिद्ध भी किया है. मैदान पर उनकी जबरदस्त ऊर्जा और खेल भावना ने नई पीढ़ियों के लिए पहले से ही कई उदाहरण पेश किए हैं. ताकि वो भी वही करें जो क्रिकेट में उनके पूर्वज करते हुए आए हैं. यह खेल अब तक बहुत लंबा सफर तय कर चुका है. आप को बता दें कि वर्तमान पीढ़ी पहले की तुलना में काफी ज्यादा अधिक आक्रामक है.

कई बार तो ऐसा भी हुआ है कि वह इतने आक्रमक हो गए कि अनुशासन की रेखा को ही भूल गए. विराट कोहली, डेविड वार्नर और ब्रेट ली ऐसे ही खिलाड़ियों में शुमार हैं. वहीं कई क्रिकेटर ऐसे हैं जिन्होंने अपने दिमाग पर नियंत्रण किया था, जैसे एमएस धोनी, केन विलियमसन और जो रूट इस बात के उदाहरण हैं. लेकिन, आज हम आपको उन खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिनकी पहचान तो शांत Cricketer के रूप में रही, बावजूद इसके एक बार उन्होंने मैदान पर अपना आपा खो दिया.

ये हैं 9 मौके जब शांत खिलाड़ी भी धधक उठे

1. यूनिस खान के साथ कुमार संगकारा की लड़ाई

कुमार संगकारा को यूनिस खान के साथ उस समय बहस करते हुए देखा गया था. जब पाकिस्तान के कप्तान को अंपायर गामिनी सिल्वा द्वारा 70 रन पर आउट करार दिया गया था. जबकि रिप्ले में दिखा था कि पाकिस्तान के बल्लेबाज आउट नहीं है बल्कि धमिका प्रसाद ने उनको आउट दिया था.

उस मैच में कुछ क्षणों के लिए संगकारा ने यूनिस खान के साथ लंबी बातचीत की, जिसे शुरू में यूनिस ने हंसी में उड़ा दिया. लेकिन, जब बात आगे बढ़ गयी तो उन्होंने अंपायर से शिकायत की. श्रीलंका के पूर्व कप्तान संगकारा सबसे शांत खिलाड़ियों में माने जाते हैं जो कभी Cricket के मैदान में लड़ते नहीं दिखाई दिए थे. यह पहली बार की ही घटना थी जब विकेटकीपर बल्लेबाज ने अपना आपा खो दिया था.

Prev1 of 9
Use your ← → (arrow) keys to browse